RSS की तीन दिवसीय बैठक आज से, इन मुद्दों पर होगा चिंतन मंथन

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल चुनाव में हुई हिंसा कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार के प्रयासों तथा यूपी, उत्तराखण्ड समेत पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में संघ की भूमिका निभाए जाने को लेकर आज से पार्टी पदाधिकारियों की तीन दिवसीय बैठक होने जा रही है। बैठक की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसमें सर संघचालक मोहन भागवत के अलावा सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले और अन्य सभी सह सरकार्यवाह हिस्सा लेगें। जबकि इसके पहले संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले कुछ दिनों पहले ही यूपी के राजनीतिक हालात का जायजा लेकर जा चुके हैं।

बैठक में मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हालातों पर विशेष चर्चा होने की संभावना है। हांलाकि अभी तक भाजपा के किसी पदाधिकारी को इस बैठक में शामिल होने की बात सामने नहीं आई है पर संघ के पदाधिकारियों ने इस बात की संभावना न होने से इंकार भी नहीं किया गया है। हाल के दिनों में पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह एक रिपोर्ट तैयार कर दिल्ली जा चुके हैं। कोरोना से हुई मौतों पर विपक्ष यूपी विधानसभा चुनावों में भाजपा को पूरी तरह से घेरने का काम करेगा। इससे निबटने के लिए इस तीन दिवसीय बैठक में संघ इस बात पर मंथन करेगा कि उससे निबटने के लिए क्या रणनीति बेहतर रहेगी।

संघ इस बात पर बेहद चिंतित है कि पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद जिस तरह से इस राज्य में हिंसा का माहौल बनाकर कार्यकर्ताओं की हत्याएं होने के साथ लूट पाट हुई उसे रोकने के लिए कौन से उपाय किए जाएं जिससे भविष्य में कार्यकर्ताओं के मन में निराशा का माहौल पैदा न हो। बैठक में कोरोना के बाद बिगडे हालातों में अनाथ हुए बच्चों के अलावा अन्य देश व्यापी समस्याओं पर चिंतन मंथन किया जाएगा। संघ के स्वयंसेवकों को इस बात के निर्देश दिए जा सकते हैं कि वह ऐसे घरों में जाकर उनकी सेवा और सहयोग करने का काम करें। साथ ही इस बात की जानकारी एकत्र करें कि ऐसे कितने गरीब परिवार हैं जो कोरोना काल के चलते पूरी तरह से बर्बाद हो गए हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published.