उत्तर प्रदेश कोविड—19 ताजा समाचार देश

2022 के चुनाव से पहले फेरबदल की अटकलें दरकिनार, कोरोना की दूसरी लहर में योगी सरकार को मिली ‘क्लीन चिट’

लखनऊ: कोरोना महामारी की दूसरी लहर में बड़ी संख्या में लोगों की जान चली गई। लोग ऑक्सीन, जरूरी दवाओं और अस्पताल में बेड की कमी के चलते अपनो को बचा नहीं पाए। उत्तर प्रदेश में भी कई लोगों ने इन आवश्यक चीजों की कमी की वजह से अपनी जान गंवा दी। उत्तर प्रदेश में भी कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हालात बेकाबू हो गए थे, जिसके चलते बड़ी संख्या में लोगों की जान चली गई। ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि अगले साल होने वाले चुनाव से पहले सरकार या पार्टी के संगठन में कुछ बदलाव हो सकता है। इन तमाम कयास के बीच भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की ओर से दो नेताओं ने प्रदेश के वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक की। लेकिन इस बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को क्लीन चिट दे दी गई है।

प्रदेश की योगी सरकार को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की ओर से दूसरी लहर को नियंत्रित करने में सफल करार दे दिया गया है। भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता और भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने ट्वीट करके लिखा, पांच हफ्तों में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने नए कोरोना के मामलों में हर रोज आने वाले मामलों में 93 फीसदी की कमी की है। यहा रखने वाली बात यह है कि उत्तर प्रदेश 20 करोड़ से अधिक आबादी वाला राज्य है। जब म्युनिसिपलिटी के मुख्यमंत्री 1.5 करोड़ की आबादी वाले राज्य को संभाल नहीं पा रहे थे तो योगी आदित्यनाथ ने काफी प्रभावी तरीके से इसपर नियंत्रण पाया।

बीएल संतोष का यह ट्वीट ऐसे समय में आया है जब कयास लगाए जा रहे थे कि प्रदेश की सरकार या फिर प्रदेश भाजपा के संगठन में कुछ फेरबदल हो सकता है। इन्ही चर्चाओं के बीच उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पार्टी के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक हुई थी। लेकिन लखनऊ से लौटने के बाद बीएल संतोष ने योगी आदित्यनाथ सरकार की तारीफ करते हुए ट्वीट किया, जिसके बाद सरकार और संगठन में बदलाव के तमाम अटकलों पर विराम लग गया। बता दें कि बीएल संतोष और पूर्व केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह ने यूपी के मंत्रियों से मुलाकात की और उनके साथ समीक्षा बैठक की। इस बैठक के खत्म होने के बाद बीएल संतोष ने यह ट्वीट किया।

बीएल संतोष और राधा मोहन सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी सोमवार को मुलाकात की थी, इसके अलावा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या और दिनेश शर्मा से भी मुलाकात की थी। मुलाकात के बाद केशव प्रसाद मौर्या ने कहा था कि हां, मेरी उनसे मुलाकात हुई है, यह सकारात्मक मुलाकात थी, भारतीय जनता पार्टी अगले साल होने वाले चुनाव में 300 से अधिक सीट जीतेगी। भाजपा की ओर से जो प्रेस रिलीज जारी की गई है उसमे कहा गया है कि पिछले कुछ महीनों में कोरोना काल में लोगों को राहत देने के लिए क्या कदम उठाए गए उसकी नेताओं ने समीक्षा की।

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर में जिस तरह से यूपी के अलग-अलग शहरों में लोगों को जरूरी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जूझना पड़ा उसकी वजह से योगी सरकार निशाने पर थी। सोशल मीडिया पर लोग और विपक्ष योगी सरकार पर लगातार निशाना साध रहा था। इनका आरोप है कि योगी सरकार ने पूरी स्थिति को सही से नियंत्रित नहीं किया, जिसकी वजह से कई लोगों की कोरोना की दूसरी लहर में मौत हो गई। जिस तरह से गंगा नदी में उफनाते हुए शव दिखे उसने प्रशासन पर कई सवाल खड़े किए और अंतरराष्ट्रीय मीडिया में यह हेडलाइन बनी। लेकिन योगी सरकार ने इस रिपोर्ट पर पलटवार करते हुए कहा कि स्थिति को जानबूझकर गलत दिखाया जा रहा है, मुख्यमंत्री लगातार जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *