अब को-वैक्सीन का उत्पादन बुलंदशहर में जल्द होगा शुरू, हर महीने बनाई जाएगी 2 करोड़ डोज

अब को-वैक्सीन का उत्पादन बुलंदशहर में जल्द होगा शुरू, हर महीने बनाई जाएगी 2 करोड़ डोज

बुलंदशहर: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण देश में एक तरफ हाहाकार मचा हुआ है। तो वहीं, वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार ने को-वैक्सीन के निर्माण की अनुमति कुछ और सरकारी व निजी कंपनियों को दे दी है। जिसके तहत अब बुलंदशहर जिले में भी को-वैक्सीन का उत्पादन जल्द शुरू हो जाएगा। जानकारी के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय ने को-वैक्सीन के उत्पादन के लिए 30 करोड़ रुपए का बजट भी स्वीकृत कर दिया है।

बुलंदशहर के चोला क्षेत्र में स्थित बिबकोल कंपनी में भी को-वैक्सीन का निर्माण करने के लिए केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय से हरी झंडी हो गई है। को-वैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटैक से बिबकोल का एमओयू भी साइन हो गया है। यहां पर लगभग 2 करोड़ डोज प्रतिमाह कोवैक्सीन बनाई जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने 30 करोड़ रुपए का बजट भी इसके लिए स्वीकृत कर दिया है।

बता दें कि बुलंदशहर के चोला क्षेत्र में भारत इम्यूनोजिकल एंड बायोलॉजिकल लिमिटेड (बिबकोल) स्थित है। इस कंपनी में अभी तक पोलिया वैक्सीन बनाई जाती है। अब इसमें केंद्र सरकार ने को-वैक्सीन बनाने की अनुमति प्रदान कर दी है। बता दें कि अगस्त-सितंबर 2021 से कोवैक्सीन का उत्पादन कार्य शुरू हो जाएगा।

बिबकोल में करीब 10 मिलियन डोज प्रतिमाह कोवैक्सीन का निर्माण होगा। लगभग 2 करोड़ डोज प्रतिमाह कोवैक्सीन यहां पर बनाई जाएगी। बिबकोल के वाइस प्रेसिडेंट आरके शुक्ला ने बताया कि केंद्र सरकार से कंपनी में कोवैक्सीन बनाने की स्वीकृति के साथ 30 करोड़ रुपए का बजट भी स्वीकृत हो गया है। कंपनी में 10 मिलियन डोज प्रतिमाह कोवैक्सीन बनेगी। कोवैक्सीन बना रही भारत बॉयोटेक के साथ बिबकॉल का एमओयू भी साइन हो गया है। अगस्त-सितंबर माह से उत्पादन शुरू हो जाएगा।

उत्तर प्रदेश कोविड—19 ताजा समाचार देश