उत्तर प्रदेश ताजा समाचार देश

कोरोना काल में उन्नाव के 14 स्वास्थ्य केंद्रों के प्रमुख ने की इस्तीफे की पेशकश, उत्पीड़न का लगाया आरोप

उन्नाव: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का दूसरी लहर का प्रकोप जारी है। इसी बीच यूपी के उन्नाव जिले में 14 स्वास्थ्य केंद्रों के प्रमुख ने बुधवार (12 मई) को अपने पदों से इस्तीफे की पेशकश की है। इन 14 स्वास्थ्य केंद्रों के अधीक्षकों ने आरोप लगाया है कि वरिष्ठ प्रशासन के अधिकारियों द्वारा कथित उत्पीड़न और गलत व्यवहार किया जा रहा है। यह मामला उस वक्त सामने आया जब एक दिन पहले जिला प्रशासन ने फतेहपुर चौरासी और असोहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभारी अधिकारियों को हटा दिया है। हालांकि जिला प्रशासन ने आरोपों से इनकार किया है और दावा किया कि दोनों अधीक्षकों को नीति के अनुसार ट्रांसफर कर दिया गया है। विवाद को सुलझाने के लिए जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) रवींद्र कुमार ने आज गुरुवार (13 मई) को अपने कार्यालय में सभी 14 स्वास्थ्य केंद्र के अधिकारियों को एक बैठक के लिए बुलाया है।

14 स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षकों द्वारा इस्तीफा की पेशकश करने वालों में 4 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के अधीक्षक हैं। वहीं 10 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभारी हैं। इंडियन एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट में ये दावा किया गया है। प्रोविजनल मेडिकल सर्विस के जिला महासचिव और गंज मुरादाबाद के स्वास्थ्य केंद्र के प्रमुख डॉ. संजीव कुमार ने कहा है, ”हमें यह कदम उठाने के लिए मजबूर किया जा रहा है क्योंकि पिछले साल से 24 घंटे काम करने के बावजूद हमें नियमित रूप से परेशान किया जा रहा है और प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जेल भेजे जाने की धमकी भी दी जा रही है। वे हमें झूठा आरोप लगाकर डांटते हैं कि हम जिम्मेदारी से काम नहीं कर रहे हैं।” गंज मुरादाबाद के स्वास्थ्य केंद्र के प्रमुख डॉ. संजीव कुमार ने भी इस्तीफा देने की पेशकश की है।

डॉ. संजीव कुमार ने दावा किया है कि फतेहपुर चौरासी और असोहा केंद्रों के अधीक्षकों को खुद का बचाव करने का मौका भी नहीं दिया गया था और उनका ट्रांसफर कर दिया गया है। डॉ. संजीव कुमार ने कहा, दोनों स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक ईमानदारी के साथ अपना काम कर रहे थे। फतेहपुर चौरासी के अधीक्षक डॉ. प्रेम चंद कोरोना संक्रमित हैं। डॉ. संजीव कुमार ने दावा किया कि डीएम के साथ बैठक में इन मुद्दों को उठाया जाएगा।

उन्नाव के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) डॉ. आशुतोष कुमार ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि उन्हें नहीं पता था कि स्वास्थ्य केंद्रों के अधीक्षक जिला प्रशासन से नाराज थे। डॉ. आशुतोष कुमार ने कहा, ‘ऐसा कदम उठाने से पहले उन्हें अपनी समस्या मुझसे साझा करनी चाहिए थी। मुझे आज (12 मई) शाम को इस मामले के बारे में पता चला जब मैं अपने कार्यालय से लौट आया। मैंने इसके बारे में जिला मजिस्ट्रेट से बात की और उन्होंने कल (13 मई) बैठक बुलाई है। हमें उम्मीद है कि मामला जल्द सुलझ जाएगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *