कोरोना के चलते घर पर ही अदा की गई ईद की नमाज, सूनी पड़ी मस्जिदें

कोरोना के चलते घर पर ही अदा की गई ईद की नमाज, सूनी पड़ी मस्जिदें

रायबरेली: 30 दिन रोजे के बाद गुरुवार को आसमान में चांद का दीदार हुआ और आज ईद का त्यौहार लोग अपने घरों में शान्ति से मना रहे हैं। कोरोना महामारी के चलते पिछले साल भी लोगों ने अपने घरों पर ही नमाज अदा करने के साथ साथ ईद मनायी थी, इस आस में कि अगले साल ईद धूमधाम से मनाएंगे पर इस बार तो हालात और भी बत्तर है ऐसे में लाॅकडाउन का पालन करना ही एकमात्र उपचार है। त्योहार की उत्साह में कमी न आए इसलिए घर में ईद का चांद दिखते ही लोग फोन पर ही बधाई देने में जुट गये।

जिले में पूरी तरह से प्रशासन के निर्देशों का पालन हो रहा है। दो दिन पहले ही जिला प्रशासन ने उलेमाओं और संभ्रांत व्यक्तियों के साथ मीटिंग कर अपील की थी कि लोगों से कहें कि घरों में ही नमाज अदा करें। प्रशासन का कहना था कि इससे सोशल डिस्टेंसिंग तार-तार होने से बचेगी और हम कोरोना से लड़ने में सक्षम रहेंगे। इसी के तहत गुरुवार शाम और शुक्रवार सुबह मस्जिदों से ऐलान हुआ कि सभी अपने अपने घरों में ईद की नमाज अदा करें। जिसके बाद शहर की मस्जिद और ईदगाह सूनी रहीं। सुबह से ही मुस्लिम समाज के लोगों ने अपने-अपने घरों पर ईद की नमाज अदा की। कोरोना महामारी से हुए विनाश को देखते हुए बड़ी संख्या में लोगों ने ईद के मौके पर नए कपड़े तक नही पहने। वहीं डीएम वैभव श्रीवास्तव ने सभी को ईद की मुबारकबाद देते हुए प्रशासन को सहयोग करने के लिए धन्यवाद भी दिया।

उत्तर प्रदेश कोविड—19 ताजा समाचार देश