उत्तर प्रदेश कोविड—19 ताजा समाचार देश मुजफ्फरनगर शामली

शामली : कोरोना काल में मौत पर फ्री शिक्षा देगा शामली का यह स्कूल

शामली। कोरोना काल में जहां चारों तरफ मौत का आंकड़ा दिन प्रति दिन बढ़ रहा है । वहीं शामली जनपद में कोरोना कॉल में हुई मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है कोरोना काल में हुई मौत के मामले को लेकर सिटी के निजी स्कूल सिल्वर बेल्स पब्लिक स्कूल ने अपने छात्र छात्राओं को फ्री शिक्षा देने का एलना किया है स्कूल मैनेजर का कहना है कि हमारे स्कूल के एक मैनेजर साथी की करुणा से ग्रस्त होने पर मौत हो गई है और उनकी याद में ही उन्होंने समाज सेवा की कड़ी को आगे बढ़ाते हुए अपने स्कूल के छात्र छत्राओं के कोरोना महामारी के दौरान परिवार में मां-बाप की या किसी की भी मौत होने पर फ्री शिक्षा देने की बात कही है स्थानीय निवासियों ने उनकी इस पहल का स्वागत किया है और दूसरे स्कूलों को भी आगे आने की गुहार लगाई है ।


शामली में बीजेपी नेता व सिल्वर बेल्स के चेयरमैन अजय संगल की कोरोना ग्रस्त होने पर मौत हो गई थी जिनकी समाज सेवा की कड़ी को आगे बढ़ाते हुए सिल्वर बेल्स पब्लिक स्कूल के चेयरमैन एडिशनल की मौत के बाद स्कूल प्रशासन की मीटिंग हुई जिसमें उन्होंने निर्णय लिया कि उनके स्कूल में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के परिजन कि अगर महामारी में किसी की मौत होती है तो उनको स्कूल प्रशासन अपनी तरफ से 12वीं तक की पढ़ाई फ्री मोहिया कराएगा इस मामले में स्कूल मैनेजर अतुल बंसल का कहना है कि उनके साथी चेयरमैन अजय सिंघल जी की क्रोना से मौत हो चुकी है जिनकी याद में उन्होंने उनकी समाज सेवा की कड़ी को आगे बढ़ाते हुए अपने स्कूल में पढ़ने वाले हर उस बच्चे को फ्री शिक्षा देने का ऐलान किया है जिनके परिवार के माता-पिता में से किसी की भी मौत हो गई हो ।

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

उधर, स्कूल द्वारा कोरोना काल में मरने वाले परिजनों के बच्चों को फ्री शिक्षा देने के मामले में स्थानीय लोगों व छात्रा का कहना है कि यह एक बहुत अच्छी पहल है जो कोरोना काल में अपना व्यापार खो बैठे हैं । वहीं छात्र छात्राओं के परिवार के ज़िममेदार लोगो की मौत के बाद पढ़ाई करना तो बहुत दूर की बात है और जिले के सिल्वर बेल्स पब्लिक स्कूल की यह एक बहुत अच्छी पहल है इस मामले में दूसरे स्कूलों को भी आना चाहिए जो कोरोना काल में अपने परिजनों के परिवार के किसी सदस्य को खो चुके हैं । जिससे बाद में स्कूल के माध्यम से उनकी पढ़ाई पूरी हो सके । और आने वाले समय में सेल डिपेंडेड होकर अपना घर परिवार की जिम्मेदारी उठा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *