उत्तर प्रदेश कोविड—19 सहारनपुर

नगर निगम ने मेडिकल काॅलेज को दी एक और कोरोना टेस्ट मशीन

सहारनपुर। कोरोना संदिग्ध लोगों को आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए अब ज्यादा लंबा इंतजार नहीं करना पडे़गा। नगर निगम ने पिलखनी मेडिकल काॅलेज को आरटीपीसीआर टेस्ट करने वाली एक और कोरोना टेस्ट मशीन उपलब्ध करा दी है जिससे मेडिकल काॅलेज में आरटीपीसीआर टेस्ट की क्षमता मंगलवार से दोगुणी हो गयी है। मेयर संजीव वालिया व जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष डाॅ.महेन्द्र सैनी, विधायक देवेन्द्र निम, एसएसपी डाॅ. एम चैनप्पा, काॅलेज प्रधानाचार्य डाॅ. अरविंद त्रिवेदी, पूर्व विधायक राजीव गुंबर, महानगर भाजपा अध्यक्ष राकेश जैन व महानगर महामंत्री किशोर शर्मा ने मंगलवार को इस मशीन का उद्घाटन किया।

मेडिकल काॅलेज की आरटीपीसीआर टेस्ट की क्षमता हुई दोगुणी
मेयर संजीव वालिया ने बताया कि बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण लोगों को आरटीपीसीआर रिपोर्ट के लिए काफी लंबा इंतजार करना पड़ रहा था। इस समस्या को देखते हुए नगर निगम द्वारा निगम निधि से करीब 16 लाख रुपये की आरटीपीसीआर टेस्ट मशीन मेडिकल काॅलेज को उपलब्ध करायी गयी है, इससे मेडिकल काॅलेज की आरटीपीसीआर टेस्ट क्षमता दोगुणी हो गयी है। मेयर वालिया ने कहा कि इससे निश्चित ही कोरोना संक्रमित लोगों के उन परिवारजनों को भी राहत मिलेगी जो अपने को संदिग्ध मानकर जांच करवाते थे और उन्हें लंबे इंतजार के बीच कोरोना होने के भय से गुजरना पड़ता था।

अब हम पूरे मंडल की आरटीपीसीआर टेस्ट करा सकेंगे: डीएम
जिलाधिकारी अखिेलेश सिंह ने बताया कि इस मशीन के लग जाने से प्रतिदिन लगभग 1500 अतिरिक्त सेम्पिल की जांच हो सकेगी। उन्होंने बताया कि अब जनपद में मेडिकल काॅलेज की क्षमता प्रतिदिन लगभग तीन हजार सैंपल टेस्टिंग हो गयी है। अब हम सहारनपुर जनपद के अलावा शामली ही नहीं बल्कि पूरे मंडल की आरटीपीसीआर सैंपल टेस्टिंग करा सकेंगे। अब लोगों को टेस्ट रिपोर्ट के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पडे़गा।

इससे कोरोना के फैलाव को रोकने में मदद मिलेगी: त्रिवेदी
काॅलेज के प्रधानाचार्य डाॅ.अरविंद त्रिवेदी ने बताया कि बढ़ते जांच नमूनों के कारण बायो सेफ्टी लैब में आरटीपीसीआर जांच नमूनों की क्षमता बढ़ाने की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। अभी तक एक मशीन से प्रतिदिन लगभग 1200 नमूनों की जांच की जा रही थी। आज नगर निगम की ओर से मेयर साहब द्वारा दी गयी ये मशीन शुरु हो जाने से बीएसएल लैब की क्षमता दोगुणी हो गयी है। उन्होंने बताया कि रोगियों व उनके परिवार के मैनेजमेंट में और उनके संपर्क में आये लोगों को पहचानने में मदद मिलेगी और उन्हें चिन्हित कर हम आइसोलेट कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि इससे रोगियों का ही नहीं बल्कि उनके परिवार और उनके संपर्क में आने वाले लोगों का भी हित होगा। इससे कोरोना के फैलाव को रोकने में मदद मिलेगी। डाॅ.त्रिवेदी ने कहा कि ये सहारनपुर मंडल की बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने बताया कि एक दो दिन में तीसरी मशीन शुरु हो जाने से हमारी क्षमता करीब साढे़ तीन हजार हो जायेगी। आने वाले दिनों में दूर दराज शामली व मुजफ्फरनगर से आने वाले नमूनों की भी जांच कर उसी दिन दे पायें यह प्रयास रहेगा।

डाॅ. त्रिवेदी ने बताया कि शासन की ओर से चार हजार नमूनों की जांच का लक्ष्य दिया गया है। इस लक्ष्य को चार मशीनों के साथ हम जल्दी ही पूरा कर लेंगे। उन्होंने बताया कि कुछ सैंपल पैंडिंग होने के कारण हमने लखनऊ और मेरठ भिजवा दिये थे, उनकी रिपोर्ट प्राप्त हो गयी है, जो जल्दी ही पोर्टल पर उपलब्ध हो जायेंगी। मेयर संजीव वालिया ,भाजपा जिलाघ्यक्ष डाॅ.महेन्द्र सैनी, विधायक देवेंद्र निम, पूर्व विधायक राजीव गुंबर व महानगर अध्यक्ष राकेश जैन ने इस अवसर पर प्रधानाचार्य डाॅ.त्रिवेदी को मरीजों व उनके तिमारदारों को राहत देने के लिए अनेक महत्वपूर्ण सुझाव दिए। इस मौके पर काॅलेज की उपप्रधानाचार्य डाॅ.प्रीति, डा.मानिका सिंह, नोडल अधिकारी डाॅ. देवेन्द्र, डाॅ.प्रज्ञा वोहरा, डाॅ.इन्दु व साइंटिस्ट प्रदीप आदि भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *