मेडिकल किट वितरण का काम अब निगरानी समितियां करेंगी

मेडिकल किट वितरण का काम अब निगरानी समितियां करेंगी

सहारनपुर। महानगर में अब कोरोना लक्षणों वाले व संदिग्ध कोरोना संक्रमितों को अब मेडिकल किट वितरण का काम निगरानी समितियां करेगी। जोनल अधिकारी समितियों के कार्यो की समीक्षा और निगरानी करेंगे। कोरोना लक्षण वाले लोगों का पता लगाने के लिए ये समितियां डोर टू डोर स्क्रीनिंग भी करेगी। शासन के निर्देश पर नगरायुक्त ने निगम क्षेत्र के चारों जोन के लिए जोनल अधिकारी भी नियुक्त कर दिए हैं। सहायक नगरायुक्त ने निगरानी समितियों में शामिल राजस्व कर्मियों की मंगलवार को निगम में एक बैठक ली और उन्हें इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिए।

समस्या है तो समाधान भी है, करें ज्योतिषी से नि:शुल्क बात

नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि शासन की मंशा है कि किसी भी घर में कोई भी कोराना संक्रमित या कोरोना लक्षणों वाला संदिग्ध व्यक्ति बिना उपचार के शेष ना रहे, ताकि जल्दी से जल्दी कोरोना का खात्मा किया जा सके। उन्होंने बताया कि अब निगरानी समितियों को यह दायित्व दिया गया है कि समितियां डोर टू डोर जाकर स्क्रीनिंग का कार्य करेंगी और कोरोना संक्रमित व संदिग्ध लोगों को मेडिकल किट उपलब्ध करायेगी। इसके साथ ही जिन लोगों को किट दी गयी है उनके नाम, फोन नंबर नोट कर उसी दिन जिला प्रशासन को उपलब्ध कराये जायेंगे ताकि आई.सी.सी.सी से उनका सत्यापन कराया जा सके। इसके अलावा यह सूची जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करायेगी जायेगी।

उन्होंने बताया कि निगरानी समिति ये भी सुनिश्चित करेगी कि कोरोना लक्षण वाले या संदिग्ध संक्रमित व्यक्ति के पास शौचालय सहित अलग कक्ष है या नहीं। यदि किसी के पास नहीं है तो उसका फोन नंबर व नाम सहित ऐसे लोगों की सूची जिला प्रशासन को उपलब्ध करायी जायेगी ताकि प्रशासन उन्हें क्वारंटीन सेंटर भिजवाने की व्यवस्था कर सके। शासन के निर्देश पर इसके अनुश्रवण के लिए मुख्य कर निर्धारण अधिकारी रवीश चैधरी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। नगरायुक्त ने बताया कि निगम के चारों जोन के लिए सहायक जोनल अधिकारी भी नियुक्त किये गए हैं। जोनल एक के लिए सहायक नगरायुक्त अशोक प्रिय गौतम, जोनल दो के लिए अधिशासी अभियंता जलकल सुशील सिंघल, जोनल तीन के लिए सहायक अभियंता जलकल ईश्वर सिंह तथा जोनल चार के लिए सहायक अभियंता विद्युत एस बी अग्रहरि को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। जोनल अधिकारी निगरानी समितियों से संपर्क कर ये सुनिश्चित करेंगे कि कोरोना लक्षण वाले लोगों को मेडिकल किट पहुंची है या नही तथा डोर टू डोर स्क्रीनिंग का कार्य ठीक से हो रहा है या नहीं।

इसी संदर्भ में सहायक नगरायुक्त अशोक प्रिय गौतम ने निगरानी समितियों में शामिल करसंग्रहकर्ताओं के साथ एक बैठक निगम कार्यालय में की और उन्हें शासन के आदेशों से अवगत कराते हुए बताया कि सरकार कोरोना मरीजों तक मेडिकल किट पहुंचाने को लेकर बहुत गंभीर है। उन्होंने निर्देश दिए कि इस कार्य में किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए अन्यथा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

उत्तर प्रदेश कोविड—19 ताजा समाचार देश सहारनपुर