प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की 164 वीं जयंती पर शहीदों को याद किया

प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की 164 वीं जयंती पर शहीदों को याद किया

सहारनपुर। प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की 164 वीं जयंती पर ललता पन्ना शहीद स्मारक समिति के तत्वावधान में कोरोना प्रोटोकाल के तहत एक संक्षिप्त कार्यक्रम आयोजित कर शहीदों का भावपूर्ण स्मरण किया गया। इस अवसर पर ललता बाजार (लोहा बाजार) स्थित शहीद स्मारक क्षेत्र को नगरायुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह के निर्देश पर विशेष रुप से साफ सफाई कराकर चूना व ब्लीचिंग छिड़काव के साथ ही पूरी तरह सैनेटाईज कराया गया था।

ललता बाजार स्थित शहीद स्मारक पर शहीदों को दी गयी श्रद्धांजलि

‘भारत माता की जय’, ‘देश के अमर शहीदों की जय’ के नारों के बीच शहीद स्मारक पर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए पुष्प व माला अर्पित कर शहीदों को श्रद्धाजंलि दी गयी। मेयर संजीव वालिया ने शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि लाखों लोगों ने अपने प्राणों को होम कर देश को आजादी दिलायी, अब हम सबका कर्तव्य है कि हम देश की एकता और अखंडता को कायम रखते हुए देश को विकास के पथ पर अग्रसर रखें। समिति अध्यक्ष जयनाथ शर्मा ने कहा कि देश के लाखों मतवालों ने अपने प्राणों की आहुति देकर यह आजादी हासिल की है। उन अमर सेनानियों के बलिदान का ही नतीजा है कि हम आज खुली हवा में सांस ले रहे हैं।

समस्या के समाधान के लिए ज्योतिषी से बात करें, बिल्कुल फ्री

समिति के उपाध्यक्ष व साहित्यकार डाॅ. वीरेन्द्र आज़म ने शहीद स्थल के इतिहास से अवगत कराते हुए बताया कि यह वह स्थल है जहां पीपल के पेड़ पर स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान क्रांतिकारियों को फांसी पर लटकाया गया था और लोगों में दहशत पैदा करने के लिए कई-कईं दिन तक शवों को लटकाये रखा जाता था, लेकिन इसके बावजूद आजादी के दीवानों में मर मिटने का जुनून कम नहीं हुआ, और वे तब तक अपनी कुर्बानियां देते रहे जब तक आज़ादी हासिल नहीं हुई। इस अवसर पर सहायक नगरायुक्त अशोक प्रिय गौतम, पार्षद आशुतोष सहगल, पार्षद प्रतिनिधि नितिन सिंघल, समिति के महामंत्री वासुदेव शर्मा निर्माेही, सुशील अग्रवाल मंजू, संजय गोयल, संजय जैन, सुभाष चंद मित्तल, सतीश मित्तल, राकेश मोहन, सुरेन्द्र मोहन शर्मा व नत्थीलाल आदि गणमान्य लोगों ने शहीद स्मारक पर पुष्पाजंलि अर्पित कर अपनी श्रद्धाजंलि दी।

उत्तर प्रदेश सहारनपुर