उत्तर प्रदेश कोविड—19 देश सहारनपुर

covid-19: रोगियों के लिए वरदान बनी निगम की टेली मेडिसिन सेवा

सहारनपुर। कोरोना को लेकर चारों ओर से आ रही नकारात्मक खबरों के बीच घर पर खाली बैठे लोग मानसिक रुप से भी अपने को बीमार महसूस करने लगे हैं। नगर निगम द्वारा आईएमए के सहयोग से संचालित टेली मेडिसिन के माध्यम से ऐसे अनेक लोगों ने न्यूरोलाॅजिस्ट व मनोरोग चिकित्सकों से अपनी परेशानी साझा करते हुए इसका उपचार पूछा है।

समस्या के समाधान के लिए ज्योतिषी से बात करें, नि:शुल्क

नगर निगम परिसर में नगर निगम द्वारा आईएमए के सहयोग से संचालित टेलीमेडिसिन रोगियों के लिए वरदान साबित हो रही है। निगम की टेलीमेडिसिन सेवा के पैनल में शामिल 55 वरिष्ठ चिकित्सकों में ऐसे भी चिकित्सक शामिल है जिनके यहां तीन-तीन दिन में रोगियों का नंबर आता था लेकिन टेलीमेडिसिन सेवा के माध्यम से रोगी घर बैठे इन चिकित्सकों से सीधे बात कर निशुल्क उपचार करा रहे हैं। यही वजह है कि न केवल सहारनपुर बल्कि चंडीगढ़, मोहाली, अंबाला, यमुनानगर, देहरादून, हरिद्वार, रुड़की, ऋषिकेश, गाजियाबाद, मेरठ, कानपुर, लुधियाना आदि विभिन्न शहरों और राज्यों के मरीज भी टेली मेडिसिन का लाभ उठा रहे हैं।

नकारात्मक खबरों के बीच घर खाली बैठे लोगों को हो रही मानसिक परेशानी

बुखार, खांसी, बदन दर्द आदि कोरोना लक्षणों वाले रोगियों के अलावा महिला रोगियों के लिए भी टेलीमेडिसिन वरदान साबित हो रही है। अनेक महिला रोगियों ने निगम की टेली मेडिसिन सेवा की सराहना करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के बीच जब घर से बाहर निकलना खतरे से खाली नहीं है, ऐसे समय में टेली मेडिसिन के माध्यम से घर बैठे उपचार मिलने से उन्हें बहुत राहत मिली है। टेली मेडिसिन के पैनल में शामिल महिला रोग विशेषज्ञ डाॅ.वंदना, डाॅ.अनिल भल्ला, डा.सविता वर्मा, डाॅ.उषा कुमारी, डाॅ.अनुश्री पाण्डेय व डाॅ.मीनल गोयल महिलाओं की समस्याओं को ठीक से समझ कर उन्हें मेडिकल परामर्श दे रही हैं।

उधर टीवी चैनलों पर कोरोना को लेकर दिखायी जा रही खबरों और आस-पड़ौस, परिचितों व रिश्तेदारों के यहां से आ रही नकारात्मक खबरों के बीच घर पर खाली रह रहे कामकाजी लोग मानसिक रुप से अपने को अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं। ऐसे अनेक लोगों ने टेली मेडिसिन के माध्यम से वरिष्ठ न्यूरोलाॅजिस्ट डाॅ.हिमांशु मेहता व डाॅ.विजय अग्रवाल तथा मनोरोग चिकित्सक डाॅ.अमरजीत पोपली से अपनी परेशानी साझा करते हुए जानना चाहा है कि वे इस स्थिति से कैसे बाहर निकले और उन्हें क्या उपचार लेना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *