उत्तर प्रदेश ताजा समाचार सहारनपुर

मामूली विवाद में भाई भाभी ने छोटी बहन को उतार दिया मौत के घाट

सहारनपुर। पिछले दिनों नहर से मिले महिला के शव की पुलिस द्वारा शिनाख्त कर लिए जाने के बाद आज जो मामला खुलकर सामने आया, वह भाई बहन के रिश्तों को शर्मसार कर देने वाला है। दरअसल एक भाई ने अपनी छोटी बहन को मामूली विवाद के बाद, बहन के साथियों के साथ मिलकर और बीयर में जहरीली गोली खिलाकर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने हत्यारोपी भाई और भाभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जबकि दो अन्य की तलाश जारी है।


आपको बता दें कि विगत 14 मई 2021 को थाना रामपुर मनिहारान क्षेत्र के गांव शेरपुर में नहर से एक अज्ञात महिला का शव बरामद हुआ था। उस वक्त काफी छानबीन के बाद भी मृतका की पहचान नहीं हो सकी थी। जिसके बाद क्राइम ब्रांच और थाना रामपुर मनिहारान पुलिस ने मृतका के फोटो ग्रामीणों को दिखा दिखाकर आखिरकार मृतका की पहचान कर ही ली। इस मामले में पुलिस ने मृतक महिला के भाई दीपक पुत्र मांगेराम तथा भाभी रेखा पत्नी मांगेराम निवासी पंजाबी बाग थाना सदर बाजार को आज गिरफ्तार किया है। दो हत्यारोपी अभी भी फरार बताए जा रहे हैं।
एसपी सिटी राजेश कुमार ने बताया कि पूछताछ करने पर गिरफ्तार अभियुक्त दीपक पुत्र मांगेराम ने बताया कि मृतक महिला दीपिका उर्फ बुलबुल उसकी छोटी बहन थी। जो आये दिन घर झगडा व मारपीट करती रहती थी। मृतका के साथ विपिन निवासी अम्बेडकरपुर और गोपाल उर्फ विरेन्द्र पुत्र सुरेन्द्र निवासी रामलीला भवन गंगोह रहते थे, जो मृतका के मित्र थे। विगत 13 मई को मृतका दीपिका उर्फ बुलबुल द्वारा घर में झगडा किया गया था। उस वक्त उसके साथ गोपाल उर्फ वीरेन्द्र भी साथ था।

अभियुक्त दीपक ने बताया कि गोपाल उर्फ वीरेन्द्र व विपिन उर्फ चक्की का काफी समय से उनके घर पर मृतका दीपिका के पास आना जाना लगा रहता था। गोपाल उर्फ वीरेन्द्र द्वारा विपिन के कहने पर मेरी बहन दीपिका उर्फ बुलबुल को नशे की गोली बीयर में मिलाकर दी गयी। जिसे पीने के बाद दीपिका उर्फ बुलबुल टायलेट में गयी जब काफी देर हो गयी तो मेरे व मेरी मम्मी रेखा द्वारा देखा तो वह बेहोशी की हालत में पडी थी। तो मैं व मेरी मम्मी रेखा एवं गोपाल उर्फ विरेन्द्र द्वारा मृतका दीपिका को स्कूटी यू0पी0 11 बीडब्लू 3446 पर ले जाकर सरसावा रोड पर नहर में डाल दिया और हम लोग अपने घर वापस आ गये थे। फिलहाल पुलिस ने दीपक और उसकी पत्नी को रेखा को जेल भेज दिया है, जबकि फरार चल रहे गोपाल और वीरेंद्र की तलाश शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *