हरियाणा में थाने का घेराव कर किसानों ने गाय लाकर बांधी, कहा- अब सभी अपने मवेशियों को यहीं लाएंगे

टोहाना: हरियाणा के फतेहाबाद जिला स्थित टोहाना में किसान संगठनों का पुलिस-प्रशासन से तनाव व्‍याप्‍त है। बड़ी संख्‍या में किसान-प्रदर्शनकारी विरोध-प्रदर्शन करने टोहाना के थाने पहुंचे हैं। कई किसान तो अपने पशुओं को लेकर ही थाने आ गए। एक युवक ने सफेद रंग की गाय को बांधते हुए कहा कि, इसकी देखभाल करने के लिए घर पर कोई नहीं था। इसलिए यहां बांधे हैं। पुलिस पकड़े गए किसानों को छोड़े, वरना इसी तरह टोहाना के सभी गांव के किसान अपने पशु थाने में लाकर बांध देंगे।

बता दिया जाए कि, टोहाना थाने का घेराव करके बैठे किसानों द्वारा पास ही में तंबू गाड़े जा रहे हैं और वहीं खाने-पानी का इंतजाम भी किया जा रहा है। किसानों का कहना है कि पुलिस ने अगर गिरफ्तार किए गए किसानों को रिहा नहीं किया तो प्रदर्शन तेज होगा। वे अभी टोहाना के जजपा विधायक देवेंद्र बबली के आवास पर एक जून को हुए विरोध-प्रदर्शन को लेकर गिरफ्तार किए गए दो किसानों की रिहाई की मांग कर रहे हैं। रविवार को टोहाना कस्बे के सदर थाने का दृश्य देखने लायक था, जब गांव-कस्‍बे से किसान जुट रहे थे।

दो बुजुर्ग प्रदर्शनकारी बोले कि, किसान भाइयों ने दम दिखाया तो आखिर में टोहाना के जजपा विधायक देवेंद्र बबली ने माफी मांग ली। लेकिन अभी दो किसान नहीं छोड़े गए हैं। वे दोनों अभी भी न्यायिक हिरासत में हैं। यही वजह है कि, बीते शनिवार को किसानों ने अपना विरोध तेज कर दिया। उस दौरान 60 से अधिक महिलाओं सहित वयस्‍कों ने पुलिस स्टेशन परिसर में ही रात बिताई। किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी, राकेश टिकैत, स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव भी मौजूद रहे। प्रदर्शनकारियों को समर्थन देने के लिए रविवार को पंजाब के किसान नेता जोगिंदर सिंह उगराहन भी आ पहुंचे। प्रदर्शनकारियों में से एक मंदीप नाथवान ने कहा, “आस-पास के इलाकों के किसान हमारे लिए भोजन और पीने के पानी की आपूर्ति कर रहे हैं। हमें यकीन है कि हमारी मांग पूरी होगी। किसान झुकेंगे नहीं।”