Covid-19: शवों को नदी में बहाने से रोकेंगे मेयर-पार्षद और अधिकारी

सहारनपुर। सहारनपुर महानगर में भी ये निगरानी रखी जायेगी कि किसी शव को नदी में प्रवाहित या जल समाधि तो नही दी जा रही है। इसे रोकने के लिए मेयर संजीव वालिया की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है। समिति में नगरायुक्त सहित अनेक अधिकारी तथा एक दर्जन पार्षदों को शामिल किया गया है। समिति की घोषणा मेयर संजीव वालिया ने रविवार को नगर निगम में आयोजित एक बैठक में की। बैठक में सैनेटाइजेशन, फागिंग, चूना छिड़काव, शवों के दाह संस्कार, सफाई सहित अनेक मुद्दों पर भी चर्चा की गयी।

समस्या है तो समाधान भी है, कीजिए विद्वान ज्योतिषी से बात, बिल्कुल फ्री

निगरानी के लिए मेयर संजीव वालिया की अध्यक्षता में हुआ समिति का गठन
रविवार को मेयर संजीव वालिया की अध्यक्षता में नगर निगम में आयोजित एक बैठक में शासन के निर्देश पर एक समिति का गठन किया गया। यह समिति शवों को नदियों में जल समाधि या नदी में प्रवाहित करने से रोकने का काम करेगी और इस पर पूरी निगरानी रखेगी। समिति में शासन के निर्देशानुसार मेयर संजीव वालिया अध्यक्ष, नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह संयोजक/सचिव, निगम बोर्ड के उपाध्यक्ष भूरासिंह प्रजापति सदस्य, मुख्य अभियंता सिविल कैलाश सिंह व नगर स्वास्थय अधिकारी डाॅ.कुनाल जैन उसके सदस्य होंगे। इसके अतिरिक्त महापौर द्वारा नामित दस पार्षदों को भी समिति का सदस्य बनाने की बात शासन ने कही हैं। इसके अनुपालन में मेयर संजीव वालिया ने 12 पार्षदों को सदस्य नामित किया है।

मेयर वालिया ने बताया कि समिति में नामित इन 12 पार्षदों में विजय कालड़ा, अमित त्यागी, श्रीमती गीता चैहान, भगत सिंह, रमन चैधरी, कुशल पठानिया, श्रीमती सरिता शर्मा, मनोज जैन, नंद किशोर शर्मा, सुधीर पंवार, मंसूर बदर व सलीम अहमद शामिल है। उन्होंने नामित सभी पार्षदों और समिति में शामिल अधिकारियों को कहा कि वे अपने अपने स्तर पर ये सुनिश्चित करें कि महानगर की किसी भी नदी में कोई शव प्रवाह न किया जाए। मेयर वालिया ने बताया कि यदि किसी व्यक्ति की कोरोना संक्रमण से मौत होती है और उसका परिवार दाह संस्कार में सक्षम नहीं है तो निगम द्वारा उसके परिवार को या शमशान द्वारा दाह संस्कार की व्यवस्था किये जाने पर शमशान कमेटी को अधिकतम पांच हजार रुपये तक सहायता दी जा सकती है। मुस्लिम समाज के व्यक्ति की मृत्यु पर भी यह नियम लागू रहेगा।

बैठक में पार्षद प्रतिनिधि दिग्विजय त्यागी व किशोर शर्मा के अलावा महाप्रबंधक जल मनोज आर्य, अपर नगरायुक्त रवीश चैधरी, उप नगरायुक्त दिनेश यादव, सहायक नगरायुक्त अशोक प्रिय गौतम, लेखाधिकारी राजीव कुशवाहा, अधिशासी अभियंता जल श्रवण सिंघल, कर निर्धारण अधिकारी विनय शर्मा आदि भी मौजूद रहे। बैठक में शमशानों में लकड़ी की व्यवस्था, सफाई, सैनेटाइजेशन, चूना व मेलाथियान छिड़काव, सहित अनेक मुद्दों पर चर्चा हुयी। मेयर संजीव वालिया ने अधिकारियों को बिना किसी भेदभाव के सभी वार्डो में और अधिक सक्रियता व कर्मठता के साथ सैनेटाइजेशन, फागिंग, चूना व मेलाथियान छिड़काव करने के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि सैनेटाइजेशन को लेकर यदि कोई शिकायत आती है तो उसे गंभीरता से लेकर उस क्षेत्र में छिड़काव कराया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

bank Jobs 2022: bank clerk Recruitment for 6035 posts, how to apply Daily Horoscope | दैनिक राशिफल 3 जुलाई 2022 | दिन रविवार Govt Jobs 2022: IREL Recruitment 2022 Salary 88000/- Daily Horoscope | दैनिक राशिफल 2 जुलाई 2022 | दिन शनिवार