बिना प्रोटोकॉल स्मृति ईरानी पहुंची अमेठी, कार्यकर्ता के घर पहुंच प्रकट की संवेदना

अमेठी। बिना प्रोटोकॉल काल शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंची। उन्होंने यहां बाजार शुकुल के पूरे रघुशुक्ल गांव का दौरा किया, कुछ दिन पूर्व यहां कुछ लोगो की मृत्यु हुई थी, जिनके घर पहुंचकर स्मृति ईरानी ने परिजनों से मुलाकात किया और शोक सवेंदना व्यक्त किया।

फिर वो भाजपा जिला उपाध्यक्ष गिरिश चंद्र शुक्ला के घर भी पहुंची और उनसे मुलाकात किया। वो बाजार शुकुल के महोना क्षेत्र के गांव पूरे सूचित में आरएसएस के नेता स्व. विजय शुक्ला के घर पहुंची, यहां भी परिजनों से मिलकर उन्होंने शोक सवेंदना व्यक्त की, विजय शुक्ला की कोरोना संक्रमण से मौत हुई थी। इसके बाद स्मृति ईरानी अमेठी के जगदीशपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व ट्रामा सेंटर पहुंची। जहां अमेठी डीएम अरुण कुमार व अमेठी एसपी दिनेश सिंह के साथ ट्रामा सेंटर व अस्पताल का निरिक्षण किया।

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

सीएचसी जगदीशपुर में स्मृति ईरानी ने मीडिया को बताया कि एल-टू जिला अस्पताल गौरीगंज में राजेश मसाला द्वारा प्रतिदिन 50 से 60 सिलिंडर उत्पादन क्षमता तथा आदित्य बिरला ग्रुप द्वारा प्रतिदिन 100 सिलिंडर की क्षमता वाला ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट स्थापित किया जा रहा है। साथ ही एसीसी कंपनी परिसर में एसीसी टिकरिया सीमेंट वर्क्स द्वारा प्रतिदिन 150 से 200 सिलेंडर की क्षमता वाला ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट स्थापित किया जा रहा है।

उन्होंने ये भी बताया कि एल-2 रेफरल हॉस्पिटल तिलोई में वेदांता द्वारा प्रतिदिन 130 से 160 सिलिंडर उत्पादन की क्षमता वाला ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट स्थापित किया जा रहा है। जगदीशपुर स्थित ट्रामा सेंटर में बोईंग कंपनी द्वारा प्रतिदिन 30 से 35 सिलिंडर उत्पादन तथा 50 बेड आयुष हॉस्पिटल भेटुआ में प्रतिदिन 50 से 60 सिलिंडर उत्पादन की क्षमता का ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उक्त सभी प्लांट लगभग 15 से 30 जून 2021 के मध्य संचालित हो जाएंगे।

इसके बाद उनका काफिला हलियापुर थाना क्षेत्र के पिपरी गांव पहुंचा। यहां भाजपा आईटी सेल के सिद्धनाथ सिंह उर्फ गोलू की माता की तबियत पंचायत चुनाव के दौरान खराब हुई थी। जिनका इलाज तिलोई हॉस्पिटल में सांसद ईरानी के प्रयास से ही चल रहा था और दो मई को उनकी मौत हो गई थी। यहां भी स्मृति ने पहुंचकर शोक संवेदना व्यक्त की। फिर वो सलोन विधानसभा की डीह सीएचसी पहुंची और औचक निरीक्षण किया।

गौरतलब है कि डेढ़ माह में अमेठी के जायस कस्बे में दो सौ के ऊपर लोगों की मौते हुई। यहां पीएचसी और महिला अस्पताल में लोगों को इलाज नही मिल रहा। न अबतक लोगों को दवा मिली न इलाज। स्वास्थ्य अधिकारी झांकने तक नही आए। इस बदहाली के बाद भी स्मृति ईरानी वहां की हालत देखने नही पहुंची। वजह साफ है जायस के वोट बैंक से बीजेपी को लाभ नही मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कब्ज, बवासीर दूर करता है अमरूद, जानें खाने का सही समय Guava removes constipation, piles LIC Recruitment 2022 : LIC ने निकाली भर्ती, सैलरी 80000 से भी ज्यादा Horoscope Today August 16, 2022: Astrological prediction for August 16, 2022 दैनिक राशिफल 16 अगस्त 2022 | दिन मंगलवार | Daily Horoscope 16 August 2022