ताजा समाचार देश

चार धाम यात्रा खोलने पर उत्तराखंड सरकार ने लिया यू-टर्न, 16 जून के बाद फिर करेगी

देहरादून: चार धाम यात्रा खोलने के अपने आदेश को उत्तराखंड सरकार ने स्थगित कर दिया है। चार धाम यात्रा स्थगित किए जाने के पीछे प्रदेश सरकार ने वजह भी बताई है। प्रदेश सरकार ने बताया कि चार धाम यात्रा को लेकर नैनीताल हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है, जिसकी वजह से फैसला लिया गया है। बता दें कि, उत्तराखंड सरकार ने चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी के लोगों के लिए अपने जनपदों में स्थित धामों में दर्शन करने के फैसले का ऐलान किया था, लेकिन देऱ शाम जारी एसओपी में धामों के दर्शन की इजाजत देने से इनकार कर दिया गया।

बता दें कि, मंत्री सुबोध उनियाल ने दोपहर 12 बजे जारी वीडियो में साफ ऐलान किया था कि चमोली जिले के लोग बदरीनाथ, रुद्रप्रयाग के केदारनाथ और उत्तरकाशी जिले के लोग गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के दर्शन कर सकेंगे। हालांकि, प्रदेश सरकार बाद में अपने ही निर्णय से पलट गई। मंत्री सुबोध उनियाल ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बताया कि चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी के लोगों के लिए चार धाम यात्रा खोलने के अपने आदेश को स्थगित कर दिया।

यात्रा स्थगित किए जाने के पीछे उनियाल वजह भी बताई। उन्होंने कहा, ‘चार धाम यात्रा को लेकर नैनीताल हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है। जिसकी वजह से यात्रा को फिलहाल स्थगित किया गया है। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा कि 16 जून के बाद राज्य सरकार यात्रा खोलने पर फिर से विचार करेगी। चारधाम यात्रा को चरणबद्ध ढंग से शुरू करने पर पहले प्रदेश सरकार निर्णय लेगी। इसके बाद उसके पर्यटन विभाग यात्रा के संचालन को लेकर अलग से मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी करेगा। सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर के मुताबिक, कोविड कर्फ्यू के संबंध में राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी एसओपी में चारधाम यात्रा का उल्लेख नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *