न्याय ना मिलने पर पीड़िता ने खाया जहर, बोले अखिलेश यादव- ‘ये भाजपा के मुंह पर तमाचा है’

लखनऊ: रेप के आरोपियों पर कार्रवाई ना होने से आहत पीड़िता ने आजमगढ़ जिले के मेहनाजपुर थाने में जहरीला पदार्थ खाकर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। तो वहीं अब इस मामले में सपा अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोला है। अखिलेश यादव ने कहा कि ‘यह घटना भाजपा सरकार के मुंह पर तमाचा है जो बड़े दावे कर प्रदेश में आम जनमानस को न्याय देने की बात करती है।’ आजमगढ़ की घटना का जिक्र करते हुए यूपी के पूर्व सीएम व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 09 अक्टूबर को ट्वीट कर प्रदेश की योगी सरकार पर तीखा हमला बोला है। अखिलेश यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, आजमगढ़ में दुष्कर्म के आरोपियों पर कार्रवाई न होने से आहत महिला ने थाने में की आत्महत्या-अत्यंत दुखद! यह घटना भाजपा सरकार के मुंह पर तमाचा है जो बड़े दावे कर प्रदेश में आम जनमानस को न्याय देने की बात करती है। दोषी पुलिस अधिकारियों एवं आरोपियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई करे सरकार।

दरअसल, आजमगढ़ जिले के मेहनाजपुर थाने क्षेत्र निवासी एक 55 वर्षीय महिला ने 06 अक्टूबर को थाने में तहरीर दी थी। तहरीर में महिला ने बताया था कि उसके गांव के 53 वर्षीय व्यक्ति व उसके साथ ने 5 अक्टूबर की देर रात करीब 12:30 बजे दरवाजा खुलवाकर बाहर बुलाया और मारपीट की। आरोप है कि आरोपी महिला को खींचकर प्राथमिक विद्यालय के पीछे ले गए और उसके साथ दुष्कर्म किया। लेकिन पुलिस ने मामले में कार्रवाई नहीं की। इसके बाद पीड़ित महिला ने शुक्रवार को एसपी कार्यालय पहुंचकर प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई थी। जिसके बाद पुलिस जांच के लिए पीड़ित महिला के गांव भी गई थी। लेकिन शनिवार को महिला मेहनाजपुर थाने पहुंची और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई ना होने की बात कही। परिजनों का आरोप है कि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई ना होने से वो आहत थी। जिसके बाद पीड़ित महिला ने जहरीला पदार्थ निगल लिया और थाने के बाहर बेहोश हो गई। महिला के जहर निगलते ही पुलिस के हाथ पांव फूल गए। पुलिस आनन फानन में महिला को लेकर जिला अस्पताल लेकर पहुंची, जहां महिला को मृत घोषित कर दिया गया। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि इस संबंध में अपराध संख्या 95/21 आईपीसी की धारा 323/376 मुकदमा दर्ज कर उसमें आईपीसी की धारा 306 की बढ़ोतरी की गई है। वहीं, इस मामले में लापरवाही बरतने पर थाना प्रभारी चुन्ना सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बताया कि अभियुक्त अनिल सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Add a Comment

Your email address will not be published.