राकेश टिकैत ने किम जोंग-उन से की पीएम मोदी की तुलना, कहा- आवाज उठाने वाले को मिलती है सजा

नई दिल्ली: नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन पिछले 6 महीनों से जारी है। इस बीच भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने मंगलवार को देश में महंगाई को लेकर केंद्र पर हमला बोला। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए उनकी तुलना उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन से कर दी। उनके मुताबिक ये आंदोलन फसल और नस्ल बचाने का है, ऐसे में वो लड़ाई जारी रखेंगे।
टिकैत ने ट्वीट कर लिखा कि महंगाई इतनी बढ़ी है। अगर किसी ने सरकार के खिलाफ आवाज उठा दी, तो उसको सजा मिलेगी। राजा के खिलाफ जो भी बोला, वो सजा का हकदार है। राजा हैं क्या ये? ये तो किम जोंग उन बन रहे हैं कि दूसरा कोई बोल ही ना सके। उन्होंने आगे लिखा कि देश की सत्ता अपने खिलाफ एक शब्द को बर्दाश्त नहीं कर रही, लेकिन यही सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस लेगी और MSP पर कानून भी बनाएगी।

राकेश टिकैत के मुताबिक आज नहीं तो कल किसान आंदोलन की जीत होगी, सरकार को ये बात माननी पड़ेगी, क्योंकि जब-जब देश पर मुसीबत आई, जब-जब सत्ता बेलगाम हुई दिल्ली की, देश की जनता ने उसका मुकाबला किया है और अब भी करेगी। ये वैचारिक क्रांति है और ऐसी क्रांति कभी मरती नहीं है।
इससे पहले टिकैत ने तीनों कृषि कानूनों पर केंद्र से दोबारा बातचीत शुरू करने की मांग की थी। हालांकि उन्होंने साफ किया था कि नए सिरे से बात सिर्फ कानून को निरस्त करने को लेकर होगी। वहीं दूसरी ओर सरकार की राय इससे अलग है। केंद्र चाहती है कि पहले 18 महीने के स्थगन वाले प्रस्ताव को किसान मानें, फिर बातचीत के जरिए आगे की रणनीति तय की जाएगी।

ताजा समाचार देश