ताजा समाचार देश

नया रिकॉर्ड: भारत के विदेशी मुद्रा भंडार ने फिर बनाया रिकॉर्ड

नई दिल्ली: भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 28 मई, 2021 को खत्म हुए सप्ताह में 5.271 अरब डॉलर बढ़कर 598.165 अरब डॉलर के नए रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। रिजर्व बैंक (आरबीआई) के आंकड़ों में यह जानकारी उपलब्ध कराई गई है। आरबीआई की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार 21 मई, 2021 को खत्म हुए सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 2.865 अरब डॉलर बढ़कर 592.894 अरब डॉलर हो गया था।

इन देशों को पास सबसे बड़ा मुद्रा भंडार
-चीन 3.33 ट्रिलियन डॉलर
-जापान 1.37 ट्रिलियन डॉलर
-स्विटरलैंड 1.07 ट्रिलियन डॉलर
-रूस 605.90 बिलियन डॉलर
-भारत 598.165 बिलियन डॉलर

14 मई, 2021 को खत्म हुए सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 56.3 करोड़ डॉलर बढ़कर 590.028 अरब डॉलर के स्तर पर आ गया था। वहीं शुक्रवार को दूसरे द्वैमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा करते हुए रिजर्व बैंक के गवर्नर शशिकांत दास ने कहा कि विदेशीमुद्रा भंडार इस समय संभवत: 600 अरब डॉलर के स्तर को पार कर चुका है। हालांकि यह 600 बिलियन डालर के स्तर पर तो नहीं आया है, लेकिन उसके काफी करीब आ चुका है।

28 मई को खत्म हुए सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि खास तौर पर विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां बढ़ने से हुई है। यह कुल मुद्राभंडार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। रिजर्व बैंक के साप्ताहिक तौर पर जारी आंकड़ों के अनुसार, विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां सप्ताह के दौरान 5.01 अरब डॉलर बढ़कर 553.529 अरब डालर के स्तर पर आ गई है। विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां डॉलर में व्यक्त की जाती हैं। इसमें डॉलर के अलावा यूरो, पाउंड और येन में अंकित सम्पत्तियां भी शामिल हैं।

आलोच्य सप्ताह के दौरान स्वर्ण भंडार 26.5 करोड़ डॉलर बढ़कर 38.106 अरब डालर हो गया। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) 20 लाख डॉलर बढ़कर 1.515 अरब डॉलर हो गया। वहीं, आईएमएफ के पास देश का आरक्षित भंडार 50 लाख डॉलर घटकर 5.016 अरब डॉलर रह गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *