Kshama Bindu इस एकल विवाह में एक लड़की ही बनी दूल्हा और दुल्हन

Kshama Bindu

Kshama Bindu : इन दिनों भारत देश, विशेषकर गुजरात राज्य में एक लड़की (Kshama Bindu) की शादी चर्चा का विषय बनी हुई है। चर्चा भी क्यों न हो, इस लड़की ने खुद से ही विवाह जो रचाया है। ​गुजरात के वडोदरा निवासी क्षमा बिंदु ने बुधवार को खुद से शादी रचा ली है। उसने स्वयं ही मंगलासूत्र अपने गले पहना, अपनी मांग भरी और अकेले ही सात फेरे लिए। खास बात यह है कि इस शादी में दुल्हन तो बिंदू थी ही, दूल्हा भी बिंदू ही थी। एकल विवाह करके क्षमा बिंदु सोशल मीडिया पर पूरी तरह से छा गई है।

Kshama Bindu

गुजरात के वडोदरा निवासी क्षमा बिंदु ने शादी की रस्मों को पूरा करने के बाद कहा, ”मैं बेहद खुश हूं कि आखिरकार अब मैं शादीशुदा महिला हूं।” क्षमा 11 जून को शादी करने वाली थीं, लेकिन उस दिन किसी विवाद की आशंका की वजह से उन्होंने तय समय से पहले 8 जून को ही खुद से किया वादा पूरा किया।

शादी में क्षमा के कुछ दोस्त और करीबी रिश्तेदार ही शामिल हुए। 40 मिनट तक रस्मों का दौर चला, जो पंडित जी के ना आने से डिजिटल तरीके से संपन्न हुआ। नाच-गाना और खुशी के माहौल के बीच रस्में पूरी हुईं। माना जा रहा है कि भारत में खुद से शादी का यह पहला मामला है।

शादी से पहले मेहंदी और हल्दी रस्म निभाने वाली क्षमा ने कहा कि उसके कुछ पड़ोसियों को शादी को लेकर आपत्ति थी और उन्हें आशंका थी की उस दिन कुछ लोग बाधा डाल सकते हैं, इसलिए तय समय से पहले ही शादी रचा ली।

क्षमा ने कहा, ”मैं मंदिर में शादी करना चाहती थी, लेकिन दुर्भाग्य से मुझे वेन्यू बदलना पड़ा।” शादी की रस्में पूरी होने के बाद क्षमा ने दोस्तों और मेहमानों के साथ ‘लंदन ठुमुकदा’ गाने पर जमकर डांस किया। आईने के सामने खड़े होकर क्षमा ने खुद को चूमा और मुस्कुराते हुए कई पोज दिए।

आपको बता दें कि गुजरात ही नहीं, भारत में संभवत: यह पहला सोलोगैमी (एकल विवाह है), जिसमें कोई दूल्हा शामिल नहीं था। इस विवाह को लेकर भाजपा नेता के साथ-साथ हिंदुवादी संगठनों ने भी विरोध जताया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्षमा बिंदु ने तय तारीख से पहले शादी इसलिए करने का फैसला किया, क्योंकि उन्हें डर था कि कहीं 11 जून को कोई उनके घर आकर विवाद न खड़ा कर दे। क्षमा ने कहा कि वे अपना स्पेशल दिन बर्बाद नहीं करना चाहती थी, इसलिए उन्होंने बुधवार को ही शादी कर ली।