गुजरात रिफाइनरी शुरू करेगी पहला हाइड्रोजन गैस प्रॉडक्शन प्लांट, IOC से सरकार का 24000 करोड़ का MoU

वडोदरा: गुजरात के वडोदरा में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) 24 हजार करोड़ रुपए का इन्वेस्टमेंट कर 6 नए प्रोजेक्ट स्थापित करेगा। जिसके उपरांत गुजरात रिफाइनरी स्वच्छ ऊर्जा के तहत देश का पहला हाइड्रोजन गैस प्रोडक्शन प्लांट शुरू करेगी। इतना ही नहीं, गुजरात में हाइड्रोजन संचालित बस भी सबसे पहले शुरू होगी। राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान की मौजूदगी में इसे लेकर गुजरात सरकार और इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के बीच एमओयू साइन किया गया है।

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) के चेयरमैन एम एस वैद्य ने बताया कि, यहां गैस का बड़े पैमाने पर उत्पादन किया जाएगा। वहीं, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं उद्योग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एम.के. दास ने कहा कि, राज्य सरकार व आईओसीएल के बीच 24 हजार करोड़ का एमओयू आने वाले समय में हमारी अर्थव्यवस्था को रफ्तार प्रदान करेगा। एम.के. दास ने कहा कि, दुनिया जबकि कोरोना महामारी से जूझ रही है, तो ऐसे में अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने की बहुत जरूरत है। सरकार ने हजारों करोड़ का एमओयू कर इस दिशा में बड़ा प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि, गुजरात में अब तक किए गए एमओयू में अधिकांश प्रोजेक्ट का कार्य एमओयू करने के सिर्फ 11 महीने में ही पूरा कर दिया गया। उसी प्रकार 6 नए प्रोजेक्ट पूरे होने पर तस्वीर काफी बदल जाएगी।

राज्य सरकार व केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय एवं इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) के बीच एमओयू के लिए कई बड़े अधिकारी मौजूद रहे। प्रदेश के मुख्य सचिव अनिल मुकीम, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलानाशनाथन, उद्योग आयुक्त राहुल गुप्ता, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के निदेशक परिन्दु भगत, इंडेक्स -बी की प्रबंध निदेशक निदेशक नीलम रानी आदि भी थे।

Add a Comment

Your email address will not be published.