ताजा समाचार देश

Eid al-Adha 2021 Wishes: इन संदेशों के साथ भेजें अपनी दुआएं

नई दिल्ली: ईद-उल-अजहा या बकरीद का दिन कुर्बानी और त्याग के साथ जुड़ा दिन है। हर धर्म कि अपनी विशेष महत्ता है और उससे जुड़े ख़ास दिन और पर्व हैं। इस्लाम धर्म में बकरीद का दिन बहुत ख़ास माना जाता है। यह दिन रमजान के खत्म होने के 70 दिन के बाद पड़ता है। इस दिन को ईद-उल-अजहा या ईद-उल-जुहा भी कहा जाता है।

इस दिन अल्लाह के नाम पर कुर्बानी देनी की रिवायत है। इस खास दिन पर बकरे की कुर्बानी दी जाती है। लोग हजरत इब्राहिम की दी कुर्बानी को याद करते हैं। कुर्बानी के बाद बकरे के गोश्त को तीन हिस्सों में बांटा जाता है। इसमें से एक हिस्सा परिवार के लिए, दूसरा हिस्सा दोस्त तथा रिश्तेदारों और तीसरा हिस्सा समाज के जरूरतमंद तबके के लिए निकाला जाता है। इस दिन विशेष नमाजें अता की जाती हैं और खुदा से रहमत की दुआ मांगी जाती है। ईद-उल-अजहा या बकरीद के मौके पर आप भी अपनी खास दुआ अपनों तक जरुर पहुंचाएं।

1. अल्लाह का रहम आप पर आज और हमेशा बरसे,
जैसे मुस्कुराते हैं फूल, हमेशा आप मुस्कुराएं,
भूल जाएं दुनिया के सारे गम आप,
खुशियों के गीत चारों तरफ फैलाएं आप।
दुआओं में याद रखें।

2. अल्लाह आपको खुशियां और अता करें,
दुआ हमारी है आपके साथ,
बकरीद पर आप और सबाब हासिल करें।

3. सभी मुराद हो पूरी हर एक सवाली की,
दुआ को हाथ उठाओ की ईद का दिन है।
आपको हमारी तरफ से बकरीद मुबारक

4. जिंदगी का हर पल खुशियों से कम न हो,
आप का हर दिन ईद के दिन से कम न हो,
ऐसा ईद का दिन आपको हमेशा नसीब हो,
जिसमे कोई दुःख और गम न हो।
अल्लाह आपकी दुआ जरूर क़बूल करे।

5. फूलों की तरह खिलते रहो तुम,
सदा अल्लाह की नफ्जों में खोये रहो तुम,
हर ख्वाहिश पूरी हो तुम्हारी अल्लाह से ऐसी दुआ करते हैं हम।

6. अल्लाह आपके सभी गुनाहों को माफ़ करे और आपकी कुर्बानी को स्वीकार करे। इसके साथ ही आपके जीवन की सारी तकलीफें दूर हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *