इजरायल-फिलिस्तीन में संघर्ष लेकिन कश्मीर में उठता धुंआ, 20 गिरफ्तार, चेतावनी जारी

इजरायल-फिलिस्तीन में संघर्ष लेकिन कश्मीर में उठता धुंआ, 20 गिरफ्तार, चेतावनी जारी

श्रीनगर: इजरायल और फिलिस्तीन के बीच जंग जैसे हालात हैं और इजरायल लगातार फिलिस्तीन के आतंकी संगठन हमास पर एयरस्ट्राइक को अंजाम दे रहा है। शनिवार को भी इजरायली फोर्स ने हमास के कई ठिकानों को नष्ट किया है तो हमास के मुख्य नेता के आवास को इजरायली फोर्स ने धमाके में उड़ा दिया है। लेकिन, इजरायल और फिलिस्तीन के बीच जो हालात हैं, उसका धुंआ हजारों किलोमीटर दूर भारत के कश्मीर में उठता दिखाई दे रहा है। जिसको लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सख्त चेतावनी जारी की है और पुलिस ने कहा है कि जो भी शख्स फिजा खराब करने की कोशिश करेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सख्त चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि जो भी शख्स कश्मीर की शांति को, कश्मीर की फिजा को खराब करने की कोशिश करेगा, पुलिस उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा है कि उसकी नजर सोशल मीडिया से लेकर हर संवेदनशील जगहों पर है और कश्मीर की फिजा को खराब करने की कोशिश करने वालों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि ‘इजरायल-फिलिस्तीन के बीच दुर्भाग्यपूर्ण संकट को लेकर कुछ लोग घाटी में पब्लिक सुरक्षा और शांति को खराब करना चाहते हैं, जो नाकाबिले बर्दाश्त है।’ दरअसल, इजरायल की सेना लगातार गाजा में आतंकी संगठन हमास के खिलाफ कार्रवाई कर रही है और रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में कुछ ऐसे तत्व हैं जो विरोध-प्रदर्शन कर सकते हैं।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि ‘हम एक प्रोफेशनल फोर्स हैं और हम जनता की दिक्कतों और उनके दर्द को लेकर संवेदनशील हैं। और जम्मू-कश्मीर की शांति और सुरक्षा को बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी है। कुछ लोग इजरायल-फिलिस्तीन विवाद का फायदा उठाने की फिराक में हैं और हम उनके लिए चेतावनी जारी कर रहे हैं।’ जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि हम किसी भी तरह से जम्मू-कश्मीर की सड़कों पर हिंसा और अराजकता का माहौला कायम नहीं होने देंगे। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि अपनी बात कहना, राय जाहिर करना एक अलग बात है और सड़कों पर हिंसा भड़काना अलग बात और जम्मू-कश्मीर की पुलिस हर परिस्थिति के लिए तैयार है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि ‘लोगों को अपनी बात कहने की पूरी आजादी है लेकिन कोरोना वायरस की वजह से अभी रैलियों का आयोजन करना सख्त मना है। देश के दूसरे हिस्सों की तरफ जम्मू-कश्मीर की स्थिति भी कोविड-19 की वजह से काफी खराब है।’

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा है कि वो सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर बनाए हुए है। वहीं, श्रीनगर पुलिस अब तक 20 लोगों को कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार कर चुकी है। रिपोर्ट के मुताबिक श्रीनगर में दो रैलियों का आयोजन किया जा रहा था, जिसके बाद पुलिस ने गिरफ्तारी की कार्रवाई की है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने साफ कर दिया है कि उनकी नजर सोशल मीडिया पर भी है और किसी भी तरह की भड़काऊ पोस्ट करने पर कार्रवाई की जाएगी।

ताजा समाचार देश