Big News: समय से पहले केरल में दस्तक दे सकता है Monsoon, मौसम विभाग ने दिया बड़ा अपडेट

नई दिल्ली: देश इस वक्त साइक्लोन ‘यास’ का प्रकोप झेल रहा है। ऐसे में सबको मानसून को लेकर शक था कहीं उसके आने में अब कोई बाधा पैदा ना हो जाए, तो इस बारे में मौसम विभाग ने बड़ा अपडेट दिया है और सारी शंकाओं को दूर कर दिया है। आईएमडी ने कहा कि चक्रवात का असर मानसून पर नहीं पड़ने वाला है, उल्टा ये समय से पहले केरल तट पर दस्तक दे सकता है। विभाग ने कहा है कि साउथ-वेस्ट मानसून 31 मई को केरल तट से टकरा सकता है। बता दें कि इससे पहले मौसम विभाग ने कहा था कि मानसून 1 जून को केरल पहुंच सकता है।

IMD ने कहा है कि मानसून की स्पीड में तेजी देखी गई है और ये मालदीव-कोमोरिन में कुछ आगे बढ़ा है, जिसे देखने के बाद लगता है कि ये 31 मई तक केरल तक पहुंच सकता है। विभाग ने कहा है कि केरल में प्री-मानसून प्रक्रिया प्रारंभ भी हो गई है, यहां कई जगहों पर बारिश हो रही है। एर्नाकुलम, अलाप्पुझा, कोट्टायम, इडुक्की, पठानमथिट्टा में पिछले 24 घंटों के दौरान हल्की से मध्यम बारिश हुई है।

गौरतलब है कि इससे पहले भारतीय मौसम विभाग ने कहा था कि मानसून के चारों महीने पूरी तरह से वर्षा वाले रहेंगे और इस दौरान अच्छी से बहुत अच्छी बारिश देश के हर प्रदेश में देखने को मिलेगी। के हिसाब से इस बार साउथ-वेस्टर्न मानसून देश में 98 फीसदी बारिश कराएगा, हालांकिइस बार पिछले साल की तुलना में नार्थ-ईस्ट में बारिश थोड़ी कम हो सकती है लेकिन फिर भी यहां सामान्य वर्षा ही होगी।

मौसम की जानकारी देने वाली निजी संस्था स्काईमेट ने भी मानसून को लेकर यही कहा था कि लगातार तीसरे साल देश में मानसून अच्छा ही रहने वाला है। जून-सितंबर के बीच अच्छी बारिश होगी। इस साल हेल्दी मानसून रहेगा और अनुमान के मुताबिक इस साल देश में 103 फीसदी बारिश होने के आसार है।
अगर आज से लेकर अगले 24 घंटों की बात करें तो साइक्लोन ‘यास’ ओडिशा, बंगाल झारखंड, बिहार और यूपी के कई हिस्सों के लिए रेड अलर्ट जारी है। बिहार, हिमालयन पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय में भी तेज वर्षा के आसार हैं तो वहीं पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।मौसम विभाग के अलर्ट के बाद प्रशासन ने आम जन से घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है।

Add a Comment

Your email address will not be published.