Lockdown के बीच बैग में कोबरा लेकर घूम रहा था शख्स, पुलिस ने रोका तो खुला असली राज

Lockdown के बीच बैग में कोबरा लेकर घूम रहा था शख्स, पुलिस ने रोका तो खुला असली राज

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए इस समय देश के कई राज्यों में लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन के तहत केवल दवाइयों, दूध, सब्जी और किराना स्टोर जैसी आवश्यक वस्तुओं से जुड़ी दुकानें ही खोलने की इजाजत है। इसके साथ ही राज्य सरकारों ने लोगों से अपील की है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए जितना संभव हो, अपने-अपने घरों के अंदर ही रहें। ऐसे में गुरुवार को कर्नाटक के मैसूर में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया। दरअसल, शहर में लागू लॉकडाउन के दौरान पुलिस को बाइक सवार एक ऐसा शख्स मिला, जिसके बैग में एक जहरीला कोबरा सांप था।

मामला मैसूर पैलेस के पास हार्डिंग सर्कल इलाके का है, जहां लॉकडाउन के नियमों का पालन सुनिश्चित करने के लिए पुलिस की टीम सड़क पर तैनात थी। सड़क पर बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस लॉकडाउन के नियमों के बारे में बताकर वापस घर भेज रही थी। इसी दौरान पुलिस को बाइक पर एक शख्स आता हुई दिखाई दिया। पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो शख्स ने बाइक साइड में लगा ली। इसके बाद पुलिस ने उस शख्स से पूछा कि जब शहर में लॉकडाउन लागू है तो वो बाइक पर कहां घूम रहा है? शख्स का जवाब बेहद चौंकाने वाला था।

पुलिस के सवाल पर शख्स ने बताया कि वो एक जरूरी काम करके अपने घर लौट रहा है। पुलिस का अगला सवाल था कि ऐसा कौन सा जरूरी काम है, जिसे करने के लिए उसे कोरोना वायरस महामारी के बीच घर से बाहर निकलना पड़ा। इसपर शख्स ने बताया कि वो एक स्नैक कैचर है और जॉकी क्वाटर्स रेजिडेंशियल इलाके में एक कोबरा को पकड़ने के लिए गया था। इसपर पुलिस ने उस सख्स से सबूत मांगा।

इसके बाद शख्स ने अपने बैग से एक डब्बा निकाला, जिसमें एक कोबरा सांप था। सांप के सांस लेने के लिए डब्बे में दो छोटे-छोटे छेद भी किए हुए थे। शख्स ने बताया कि उसे जॉकी क्वाटर्स रेजिडेंशियल इलाके से फोन आया और बताया गया कि यहां एक कोबरा सांप है, जिसे उसने वहां पहुंचकर रेस्क्यू किया। पुलिस को जब हकीकत का पता चला तो उन्होंने शख्स के जज्बे की तारीफ की और उसे जाने दिया।

इस पूरी घटना का वीडियो सीएनएन न्यूज 18 की पत्रकार दीपा बालकृष्णन ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। वीडियो पर लोग कमेंट कर लिख रहे हैं कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान इस तरह जीवों को बचाना भी एक आवश्यक सेवा ही है। हालांकि इस संबंध में राज्य सरकार की तरफ से लॉकडाउन में किसी तरह के नियम का उल्लेख नहीं है।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के बाद अब कर्नाटक में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। गुरुवार को कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के 35297 नए मरीज मिले, जिनमें से 15191 मामले अकेले बेंगलुरू शहरी इलाके में रिकॉर्ड किए गए। इसके अलावा गुरुवार को कोरोना वायरस की वजह से 344 लोगों की जान गई। कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने 7 मई से लेकर 24 मई तक कर्नाटक में संपूर्ण लॉकडाउन लागू करने का फैसला लिया है। लॉकडाउन के नियमों के तहत केवल कर्नाटक में आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं से जुड़ी दुकानों को केवल 4 घंटे के लिए खोलने की इजाजत है।

कोविड—19 ताजा समाचार देश