Covid 19 पर बोलीं प्रियंका गांधी- ‘कोरोना का प्रसार रोकने में योगी सरकार की नहीं है कोई रुचि’

Covid 19 पर बोलीं प्रियंका गांधी- ‘कोरोना का प्रसार रोकने में योगी सरकार की नहीं है कोई रुचि’

लखनऊ: कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर तीखा हमला बोला है। प्रियंका गांधी ने कहा, ‘दस-दस हजार रद्दी किटों से जांच करके सरकारी आंकड़े तैयार किए जा रहे हैं, तब ये तो साफ है कि सरकार को आम लोगों की जान बचाने और कोरोना का प्रसार रोकने में कोई रुचि ही नहीं है।’ दरअसल, बरेली जिले में एंटीजन किट के रद्दी साबित होने के बावजूद भी उससे करीब 10 हजार लोगों के टेस्ट कर डाले। किट कोई परिणाम नहीं बता सकी, लेकिन हंगाम होने के जर से ज्यादातर संदिग्ध संक्रमितों को निगेटिव बताकर लौटा दिया गया था।

कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने प्रदेश की योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़े सरकार रद्दी किटों से तैयार कर रही है। सोशल मीडिया फेसबुक पर प्रियंका गांधी ने एक अखाबर की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, ‘उत्तर प्रदेश में आरटीपीसीआर जांचें मात्र 30-40% ही हो रही हैं। ज्यादातर जांचें एंटीजन हैं। आरटीपीसीआर जांच के रिजल्ट के लिए लोगों को 7-10 दिन का इंतजार करना पड़ रहा है। ऐसे में संक्रमितों की संख्या आंकड़ों में तो कम हो रही है लेकिन असल में सरकार का यह तरीका सभी आमजनों की जान खतरे में डाल रहा है। जरा सोचिए जब दस-दस हजार रद्दी किटों से जांच करके सरकारी आंकड़े तैयार किए जा रहे हैं, तब ये तो साफ है कि सरकार को आम लोगों की जान बचाने और कोरोना का प्रसार रोकने में कोई रुचि ही नहीं है।’

दरअसल, उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है, जिसकी वजह से सैकड़ों लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ गई। पिछले दिनों मेडिकल कॉरपोरेशन से मिली एंटीजन किट के रद्दी साबित होने के बावजूद उससे करीब 10 हजार लोगों के टेस्ट कर डाले। किट कोई परिणाम नहीं बता सकी, लेकिन हंगाम होने के जर से ज्यादातर संदिग्ध संक्रमितों को निगेटिव बताकर लौटा दिया गया था। हालांकि, इस मामले में एसीएमओ डॉक्टर रंजन गौतम ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि एंटीजन किट की जांच रिपोर्ट साफ नहीं हो पा रही थी। शिकायतें मिलने पर उन्हें बदलने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि जिन लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव थी और उनका आरटीपीसाआर सैंपल लिया गया है, वे होम क्वारंटीन रहें।

उत्तर प्रदेश कोविड—19 ताजा समाचार देश