कोविड—19 ताजा समाचार देश

ICMR के महानिदेशक की राज्य सरकारों को सलाह, इन तीन शर्तों के पूरा होने पर ही लॉकडाउन में दी जाए छूट

नई दिल्ली: कोरोना महामारी की दूसरी लहर में देश के लगभग सभी राज्य करीब डेढ़ महीने के लॉकडाउन या कर्फ्यू से अब धीरे-धीरे अनलॉक की तरफ बढ़ रहे हैं। 1 जून से कई राज्य सरकारों ने अपने-अपने राज्य में कोरोना की स्थिति को देखते हुए पाबंदियों में ढील देना शुरू कर दिया है। इस बीच ICMR के डायरेक्टर जनरल डॉक्टर बलराम भार्गव ने उन तीन शर्तों को बताया है, जिनके पूरे होने पर ही राज्य सरकारें अगर पाबंदियों में ढील दें तो बेहतर होगा। बलराम भार्गव ने कहा है कि राज्य सरकारों को इन तीन शर्तों के पूरा होने पर ही अनलॉक का निर्णय लेना चाहिए।

डॉक्टर भार्गव के मुताबिक, राज्य को अनलॉक करने से पहले राज्य सरकारें एक सप्ताह के पॉजिटिविट रेट पर जरूर गौर करें, अगर वो 5 प्रतिशत से नीचे है तो ये काफी अच्छी बात है। इसके अलावा कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित होने वाले लोगों या कम्युनिटी का 70 फीसदी टीकाकरण हो गया हो और आखिरी में कम्युनिटी को भी अपने जिम्मेदारी समझनी होगी। बलराम भार्गव ने कहा कि राज्य सरकार इन तीन शर्तों के पूरा होने पर ही छूट देने का फैसला लें।

ICMR महानिदेशक ने बताया कि अभी कोरोना की दूसरी लहर का पीक खत्म हुआ है, लेकिन तीसरी लहर की भी भविष्यवाणी की जा रही है तो ऐसे में तीसरी लहर को घातक होने से रोकने में ये तीन शर्तें काफी अहम रहेंगे। उन्होंने कहा कि 5 प्रतिशत से कम पॉजिटिविटि रेट वाले जिलों को थोड़ा खोलना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि कमजोर आबादी का कम से कम 70 प्रतिशत टीकाकरण हो गया हो और अगर ऐसा नहीं हुआ है तो टीकाकरण की रफ्तार को बढ़ाना होगा। डॉक्टर भार्गव ने बताया कि दिसंबर तक हमारा लक्ष्य पूरी आबादी को टीका देना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *