कोविड—19 ताजा समाचार देश

कोरोना को लेकर अमेरिकी महामारी विशेषज्ञ एंथनी फाउची और बिल गेट्स पर शक! चीनी साइंटिस्ट से बातचीत का ईमेल लीक

वॉशिंगटन/बीजिंग: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस कोहराम मचा रहा है और लाखों लोग मौत के मुंह में जा चुके हैं। कोरोना वायरस को प्रयोगशाला में बनाने का आरोप चीन पर लग रहे हैं और इन सबके बीच अमेरिकी महामारी विशेषत्र डॉ. एंथनी फाउची और प्रसिद्ध उद्योगपति बिल गेट्स पर चीन के वैज्ञानिकों से बात करने के आरोप लगे हैं। अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के हाथ 866 पन्नों का ई-मेल चैट लगा है, जिसमें पता चलता है कि डॉ. एंथनी फाउची लगातार चीनी वैज्ञानिकों से संपर्क में थे और उन्होंने बिल गेट्स से वैक्सीन को लेकर बात की थी। डॉ. एंथनी फाउची पर पिछले महीने आरोप लगा था कि उन्होंने चीन के वुहान लैब को पैसे दिए थे और अब ईमेल लीक होने के बाद एक बार फिर सवाल उठ रहे हैं कि क्या डॉ. एंथनी फाउची भी इस साजिश में शामिल थे और क्या उन्हें कोरोना वायरस के बारे में सबकुछ पता था और क्या उन्होंने की कोरोना वायरस को बनाने के लिए चीनी प्रयोगशाला को पैसे दिए थे?

अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के पास डॉ. एंथनी फाउची का 866 पन्नों का ईमेल चैट है, जिससे साफ पता चलता है कि डॉ. एंथनी फाउची का चीन के महामारी एक्सपर्ट्स के साथ गहरे ताल्कुकात थे और वो चीन के टॉप महामारी एक्सपर्ट से लगातार संपर्क में थे। रिपोर्ट के मुताबिक डॉ. एंथनी फाउची और चीन के महामारी एक्सपर्ट डॉ. जॉर्ज गाउ, जो चायनीज सेन्टर फॉर डिजीज कंट्रोल के डायरेक्टर हैं, दोनों में कोरोना वायरस के दुनिया में फैलने के समय लगातार बात हो रही थी। वॉशिंगटन पोस्ट ने कई ईमेल को सार्वजनिक किया है, जिसमें पिछले साल अप्रैल महीने में डॉ. एंथनी फाउची और अमेरिकी महामारी एक्सपर्ट डॉ. जॉर्ज गाउ के बीच बातचीत है। इस चैट में डॉ. फाउची बेहद दोस्ताना अंदाज में डॉ. जॉर्ज से बात कर रहे हैं लेकिन वो एक बार भी कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर चीनी एक्सपर्ट से नहीं पूछ रहे हैं।

पिछले साल मार्च महीने में चीनी एक्सपर्ट ने कहा था कि अमेरिकी सरकार लोगों को मास्क लगाने के लिए नहीं कह रही है और ये सरकार की सबसे बड़ी गलती होगी। इसमें उन्होंने एंथनी फाउची का भी नाम लिया था। लेकिन फिर उन्होंने 28 मार्च को डॉ. एंथनी फाउची को मेल करते हुए लिखा था कि ‘मैंने आपका साइंस इंटरव्यू देखा…और वो पत्रकारों की भाषा थी। आशा है आप इसे समझेंगे। चलिए साथ मिलकर हम काम करते हैं ताकि धरती से इस वायरस को खत्म किया जा सके।’ जिसके जवाब में डॉ. एंथनी फाउची ने लिखा था ‘मैं पूरी तरह से समझता हूं। कोई दिक्कत नहीं है। हम साथ मिलकर काम करेंगे’। इस जवाब के ठीक अगले हफ्ते डॉ. एंथनी फाउची ने लोगों को मास्क पहनने की सलाह देनी शुरू कर दी। उन्होंने व्हाइट हाउस में ही पहले कहा था कि कोरोना वायरस के खिलाफ मास्क पहनने की जरूरत नहीं है लेकिन चीन के एक्सपर्ट से बात करने के बाद उन्होंने लोगों को मास्क पहनने की सलाह देनी शुरू कर दी।

अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने डॉ. एंथनी फाउची और बिल गेट्स के बीच हुई बातचीत को भी सार्वजनिक किया है। दोनों के बीच बातचीत कोरोना महामारी के आने के शुरूआती दिनों में हुई थी। एक अप्रैल को डॉ. एंथनी फाउची ने बिल गेट्स से टेलीफोन पर बातचीत की थी। जिसमें वो बिल गेट्स-मेलेनिया फाउंडेशन को कोरोना वायरस वैक्सीन निर्माण के लिए कहा था। एक ईमेल में बिल गेट्स से डॉ. एंथनी फाउची कहते हैं कि उन्हें सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *