Sleep Champion: इंडिया की इस लड़की ने सोकर जीते हैं 5 लाख रूपये

Sleep Champion: क्या आप जानते हैं कि गहरी नींद में सोकर (Sleep Champion)  कोई व्यक्ति लखपति बन सकता है। (Sleep Champion) लेकिन यह सच है। भारत की एक लड़की ने केवल सोकर पांच लाख रूपये कमाएं हैं। वह भी सिर्फ एक झटके में। (Sleep Champion) असल में एक मैट्रेस कंपनी ने सबसे ज्यादा सोने का एक कंपीटिशन रखा था। इंडियाज फर्स्ट स्लीप चौंपियनशिप के नाम से आयोजित इस प्रतियोगिता में भारत की त्रिपर्णा नामक एक लड़की चौंपियन बनी है।

Sleep Champion

Sleep Champion

भारत में अक्सर कहा जाता है कि सोने से कभी किसी व्यक्ति का भाग्य नहीं जा सकता है। भाग्य को यदि जाग्रत करना है तो सूर्योदय के साथ ही जागना होगा और कर्म यानि की काम करना होगा। लेकिन आज भी बहुत सारे व्यक्ति ऐसे हैं, जो नींद के लिए अपने सभी जरूरी काम छोड़ देते हैं। अब हुगली के श्रीरामपुर निवासी त्रिपर्णा को ले लें तो यह कभी एग्जाम में सो जाती थी तो कभी इंटरव्यू देने के दौरान ही जंभाई लेने लगती थी, जिससे उसे कभी कोई फायदा नहीं हुआ, लेकिन त्रिपर्णा ने अपने सोने का ऐसा रिकॉर्ड बनाया कि हर कोई हैरान रह गया। त्रिपर्णा ने सोकर ही 5 लाख रुपये का ईनाम जीता है।

हाल ही में, एक महंगी गद्दे निर्माण कंपनी ने एक प्रतियोगिता आयोजित की। यह सोने के लिए एक प्रतियोगिता थी। उस प्रतियोगिता में लगातार 100 दिनों तक प्रतिदिन 9 घंटे सोकर त्रिपर्णा ने सर्वश्रेष्ठ स्लीपर का पुरस्कार जीता। नेतापारा में अब त्रिपर्णा की काफी चर्चा है।

iPhone 14: स्टीव जॉब्स की बेटी ने यूं उड़ाया ऐप्पल का मजाक

Sleep Champion

त्रिपर्णा को बचपन से ही सोना बहुत पसंद है। नींद के साथ उनकी कई घटनाएं भी हो चुकी हैं. कभी-कभी बोर्ड परीक्षा देते समय परीक्षा केंद्र में सो जाती तो कभी जॉब के लिए इंटरव्यू देते समय सो गई। त्रिपर्णा को सोशल मीडिया पर स्लीपिंग कॉम्पिटिशन के बारे में पता चला।

स्लीपिंग प्रतियोगिता में पूरे देश से लगभग 5.5 लाख प्रतियोगियों ने भाग लिया। त्रिपर्णा ने बाकियों को पीछे छोड़ते हुए बेहतरीन स्लीपर का ताज छीन लिया। संस्था के मुताबिक 100 दिन के इस चौलेंज में हर कंटेस्टेंट को 9 घंटे सोना था। प्रत्येक प्रतियोगी के स्लीप स्कोर में त्रिपर्णा ने सर्वाेच्च स्कोर किया। उनका स्लीप स्कोर 100 में से 95 था।

Sleep Champion

फाइनल के दौरान नींद पर नजर रखने के लिए संगठन से एक प्रतिनिधिमंडल त्रिपर्णा के घर भेजा गया था। त्रिपर्ण ने कहा, फिलहाल वह एक अमेरिकी कंपनी में कार्यरत हैं। यूएसए में दिन भारत में रात रहता है। इसलिए उसे अपना सारा काम रात में करना पड़ता है। रात में जागने के कारण उन्हें दिन में सोना पड़ता है। ये 100 दिन उनके लिए एक चुनौती थी। वह लगातार 100 दिनों में 9 घंटे सोने वाली पहली शख्स हैं।

देश, दुनिया, मनोरंजन की खबरों से अपडेट रहने के लिए और ज्ञानवर्धक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक  करें।

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।