म्यांमार के अल्पसंख्यकों के समर्थन में सडकों पर उतरे मुसलमान

म्यांमार के अल्पसंख्यकों के समर्थन में सडकों पर उतरे मुसलमान

सहारनपुर। म्यांमार के अल्पसंख्यकों पर वहां की सरकार द्वारा कथित रूप से किए जा रहे अत्याचार के विरोध में यहां का अल्पसंख्यक समाज भी मयांमार के मुस्लिमों के समर्थन में आ खडा हुआ है। म्यांमार की आंग सांग सूकी सरकार को अमन चैन का दुश्मन बताते हुए यहां के मुसलानों ने सडकों पर उतर कर जोरदार प्रदर्शन किया और भारत के राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर इस मामले में कार्रवाई किए जाने की मांग की।

म्यांमार के अल्पसंख्यकों के समर्थन में सडकों पर उतरे मुसलमान

READ ALSO- अजब गजब : जमीन में दबाया था मानव का शव, निकली कुत्ते की लाश

आंग सांग सूकी को बताया अमनचैन की दुश्मन

म्यांमार में हो रही रोहिंग्या अल्पसंख्यकों की हत्या करने वाले फौजियों की निंदा की हैं और म्यांमार सरकार की आंग सांग सूकी भी कड़े शब्दों में निंदा की है। जारी बयान में कहा कि जिस प्रकार से आंग सांग सूकी को शांति एवं सदभाव का प्रचारक कहा जाता हैं जिसके लिए वह नोबेल पुरस्कार भी ले चुकी है। लेकिन शांति का ऐसा कोई भी कार्य म्यांमार में होता नजर नहीं आ रहा है।

म्यांमार के अल्पसंख्यकों के समर्थन में सडकों पर उतरे मुसलमान

क्योंकि सरकार के ही फौजियों द्वारा ही रोहिंग्या अल्पसंख्यकों की हत्या कराई जा रही है। कहा कि म्यांमार की फौज जिस प्रकार बेकसूरों, औरतो और बच्चों के साथ नरसंहार वाला व्यवहार कर रहे है। वह किसी भी देश की जिम्मेदार फौज के लिए शर्मनाक व उसकी बुजदिली एवं हताशा का प्रमाण है।

म्यांमार के अल्पसंख्यकों के समर्थन में सडकों पर उतरे मुसलमान

मांग की है कि पीड़ितों को पूरा सहयोग किया जाये और उनकी जान, माल एवं इज्जत की सुरक्षा सुनिश्चित की जाये। इस दौरान ज्ञापन देने वालो में मौलाना रियाज नदवी, लईक अहमद सिद्दीकी, मौ.अनस, सईद अहमद, हारून, आलीम, खिसाल अहमद, सईद अहमद एवं हैदर रऊफ सहित सैंकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे।

loading...

Leave a Reply

*