दिमाग को रखना है तरोताजा, तो अपनाये ये 5 टिप्स

नयी दिल्ली: आपका आहार और जीवनशैली आपके मानसिक स्वास्थ्य और समग्र स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। ओमेगा -3 फैटी एसिड, जस्ता, फोलेट, कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट और एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध खाद्य पदार्थ मानसिक विकार के उपचार और रोकथाम में प्रभावी हो सकते हैं। यहां कुछ खाद्य पदार्थ हैं जिन्हें आप अपने मानसिक स्वास्थ्य और मस्तिष्क तनाव में सुधार करने के लिए अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

1. पत्तेदार सब्जियां- अवसाद और मनोभ्रंश सहित मनोवैज्ञानिक विकार वाले लोगों में फोलट की कमी अधिक पाई जाती है। कैलोरी और वसा में पालक जैसे पत्तेदार साग खानी चाहियें। यह आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम, ओमेगा- 3, और फोलेट ओमेगा -3 फैटी एसिड का बेहतर स्रोत हैं। पत्तेदार सागों में फोलेट जैसे तत्व मानसिक विकारों के उपचार में प्रभावी हो सकते हैं।


2. दही – दही का मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव होता है। दही में जीवाणु सकारात्मक ढंग से मस्तिष्क समारोह को बदल सकता है। अपने आहार में दही को शामिल करना मानसिक स्वास्थ्य, मानसिक क्षमताओं में सुधार, और अवसाद और चिंता का प्रबंधन भी कर सकता है।

3. कस्तूरी-  कस्तूरी जिंक का एक बड़ा स्रोत है जिसका एंटीडिपेटेंट प्रभाव है। क्योंकि यह मस्तिष्क के सामान्य कार्य के लिए जिम्मेदार है। अध्ययनों से पता चला है कि जिंक की कमी कई मनोवैज्ञानिक विकारों में आम है। इसके अलावा, ऑयस्टर में ओमेगा -3 फैटी एसिड, विटामिन बी 12 और आयरन शामिल है। जो मस्तिष्क के कामकाज में सुधार करते हैं और मूड को स्थिर करने में मदद करते हैं।


4. बेरी-  एंटीऑक्सिडेंट के अच्छे स्रोत के रूप में  स्ट्रॉबेरी और ब्लैकबेरी आपके मनोदशा पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं और अवसाद स्कोर को कम कर सकते हैं। बेरी से आप हृदय स्वास्थ्य, मधुमेह, और वजन घटाने का लाभ ले सकते हैं।

5. टमाटर-  टमाटर पोटेशियम में समृद्ध होता है जो तंत्रिका संकेतों के संचरण का समर्थन करके तंत्रिका तंत्र को लाभ देता है। टमाटर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट लाइकोपीन ऑक्सीडेटिव तनाव या मस्तिष्क कोशिकाओं को नुकसान को कम करके मानसिक स्वास्थ्य की रक्षा कर सकता है। यह न सिर्फ दिमाग को तेज़ करता है बल्कि सुन्दरता भी बढाता है ।

loading...

Leave a Reply

*