Astrology-Religion Daily-Horoscope India Top News

इस सप्ताह किसकी चमकेगी किस्मत, जानिए अभी

weekly rashifal

मेष
इस सप्ताह चंद्र ग्रह आपकी राशि से दशम, एकादश, द्वादश और प्रथम भाव में गोचर करेंगे। इसके अलावा सप्ताह के मध्य में मंगल का गोचर आपके प्रथम भाव में होगा जो कि आपके चतुर्थ, सप्तम और अष्टम भावों पर दृष्टि डालेंगे। वहीं बुध आपकी राशि से एकादश भाव में गोचर होंगे, बुध की यह स्थिति आपके लिए अनुकूल साबित हो सकती है। ज्योतिषीय भविष्यवाणी के अनुसार आपका करियर पक्ष मजबूत रह सकता है। काम के सिलसिले में लंबी दूरी की यात्रा के योग बन रहे हैं। इस यात्रा से आपको थकान हो सकती है, परंतु आपको इससे धन लाभ भी प्राप्त हो सकता है। अगर आप किसी नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो आपको इस संबंध में शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। सप्ताहांत के समय आपके स्वभाव में क्रोध देखा जा सकता है। ऐसे में आपको अपने इस उग्र स्वभाव में नियंंत्रण रखने की आवश्यकता होगी। अन्यथा इसके कारण आपका किसी व्यक्ति से विवाद भी हो सकता है। जहाँ तक आर्थिक पक्ष का सवाल है तो जब चंद्रमा आपके द्वादश भाव में गोचर करेंगे तो उस दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है। क्योंकि ज्योतिष में बारहवाँ भाव व्यय भाव कहलाता है। ऐसी स्थिति में आपको अपने ख़र्चों पर लगाम लगाने की आवश्यकता है। वहीं मंगल के चतुर्थ भाव में गोचर से माता जी से आपके रिश्ते बिगड़ सकते हैं। इस भाव में राहु और मंगल की युति माता जी और आपके बीच रिश्ते को प्रभावित कर सकती है। हालाँकि इस समय आपका रुझान गूढ़ विद्या को जानने या उसे समझने में लग सकता है। यह सप्ताह प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बेहतर दिखाई दे रहा है। इसलिए इस समय का पूरा सदुपयोग करें।
वृष
इस हफ्ते चन्द्रमा आपकी राशि के नौवें, दसवें, ग्यारहवें और बारहवें भाव में भ्रमण करेंगे। इसके फलस्वरूप इस हफ्ते आपके ये चारों भाव सक्रिय रहेंगे। जहाँ एक तरफ नवम भाव धर्म और भाग्य का कारक माना जाता है वहीं दशम भाव आपके करियर, सामाजिक स्थिति, पिता के साथ संबंध और कर्म का कारक होता है। दूसरी तरफ ग्यारहवां और बारहवां भाव खासतौर से आय, लाभ और व्यय का कारक माना जाता है। चन्द्रमा की स्थिति आपकी राशि के ग्यारहवें और बारहवें भाव में होने की वजह से इस हफ्ते की शुरुआत धन के व्यय से होगी। इस हफ्ते आप धार्मिक अनुष्ठान के कार्यों पर पैसा खर्च कर सकते हैं। इसके साथ साथ ही महिलाएं आज श्रृंगार प्रसाधन और कपड़ों की ख़रीददारी पर पैसे खर्च कर सकती हैं। इस हफ्ते यदि एक हाथ से आपको धन लाभ होगा तो दूसरे हाथ से उसका व्यव भी होगा। बेहतर होगा कि पैसों का खर्च थोड़ा तालमेल के साथ करें वर्ना हफ्ते के अंत में आपको आर्थिक तंगी से जूझना पड़ सकता है। इस हफ्ते मंगल आपकी राशि के ग्यारहवें भाव से निकलकर बारहवें भाव में गोचर कर रहे हैं। कोर्ट कचहरी के मामलों में इस हफ्ते फैसला आपके पक्ष में आने की उम्मीद है। कार्यक्षेत्र में इस हफ्ते आपको काफी सारे बदलाव देखने को मिल सकते हैं। सरकारी नौकरी करने वालों का इस हफ्ते तबादला होने की पूरी संभावना है। यदि आप बिजनेस से जुड़े हैं या किसी नये बिजनेस की शुरुआत करने की सोच रहे हैं तो पार्टनरशिप से आपको लाभ प्राप्त हो सकता हैं। आप किसी दोस्त या करीबी के साथ मिलकर नये बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं। व्यापार से जुड़ा कोई भी अहम् फैसला बिना अपने पार्टनर की सलाह लिए ना लें। बिजनेस के सिलसिले में विदेश यात्रा पर जाना हो सकता है। इस हफ्ते किसी भी काम के लिए भाग्य भरोसे ना रहें क्योंकि भाग्य का साथ मिलने की उम्मीद कम नजर आ रही है।
मिथुन
इस सप्ताह चन्द्र ग्रह आपकी राशि से अष्टम, नवम, दशम एवं एकादश भाव में गोचर करेंगे। जबकि मंगल आपकी राशि से एकादश भाव में प्रवेश करेंगे। सप्ताह की शुरुआत में अष्टम भाव में चंद्रमा की उपस्थिति आपको मानसिक तनाव दे सकती है। इस दौरान आपके जीवन में किसी प्रकार की अप्रत्याशित घटना घट सकती है। वाहन चलाते समय विशेष सावधानी बरतें और ट्रैफिक नियमों का पालन करें। सप्ताह के मध्य में आपको अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। इस दौरान आपके भाग्य में वृद्धि की संभावना है। इसके अलावा करियर में तरक्की की संभावना है। परंतु इस समय किसी भी विवाद में न पड़ें अन्यथा आपको इसके अच्छे परिणाम नहीं मिलेंगे। आर्थिक पक्ष भी सप्ताह के मध्य में मजबूत हो सकता है। इस समय आमदनी प्राप्ति के प्रबल योग बन रहे हैं। आर्थिक पक्ष मजबूत होने से आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा में भी वृद्धि की संभावना है। परंतु ऐसा कोई भी कार्य न करें जिससे कि आपके परिवार का मान-सम्मान कम हो जाए। वहीं जब चंद्रमा 11वें भाव में प्रवेश करेंगे तो आपकी आय में वृद्धि हो सकती है। हालांकि आय में वृद्धि होने के बावजूद भी इस समय बेवज़ह के ख़र्चों पर लगाम लगाने की आवश्यकता होगी। यदि आप ऐसा कर पाने में असफल हुए तो आपको आर्थिक हानि का सामना करना पड़ सकता है। पारिवारिक जीवन में माता जी से मतभेद होने की संभावना दिखाई दे रही है। इस समय आपको अपने क्रोध पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है। छात्रों के लिए सप्ताह सामान्य से बेहतर नज़र आ रहा है। इसलिए इस सप्ताह अपनी पढ़ाई पर विशेष ध्यान दें। ख़ासकर उन विषयों पर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है जिसमें आप थोड़े कमज़ोर हैं।
कर्क
इस सप्ताह चन्द्र देव आपकी राशि से सप्तम, अष्टम, नवम और दशम भाव में गोचर करेंगे, जिसके चलते ये सप्ताह बिज़नेस पार्टनरशिप के दृष्टिकोण से अच्छा नहीं रहेगा, यह कहा जा सकता है। चंद्रदेव की दृष्टि से आपके अपने पार्टनर से झगड़े इत्यादि जैसे हालात उत्पन्न हो सकते है। जिससे आपको तनाव होगा और परिवार में अशांति का वातावरण भी देखने को मिल सकता है। चूँकि काल पुरुष कुंडली में ये भाव तुला, वृश्चिक, धनु और मकर के होते हैं, इसी लिए इस सप्ताह आपके जीवन साथी का स्वस्थ्य ख़राब रह सकता है, जिससे आपका धन उनके स्वस्थ्य पर खर्च होगा। आपके लिए सप्ताह का प्रारम्भः काफी मानसिक अशांति लिए हुए रह सकता है, परन्तु जैसे-जैसे सप्ताह आगे बढ़ेगा, वैसे-वैसे आपका मानसिक तनाव कम होता जाएगा। बावजूद इसके इस पूरे ही सप्ताह आपमें उग्रता बनी रहेगी और आपका मन धर्म से सम्बंधित विद्या में लगेगा। इस सप्ताह आप उच्च स्तर की शिक्षा हासिल करने के अपने प्रयत्नों में बढ़ोतरी कर सकते हैं। ज्योतिष शास्त्रों में सप्तम भाव जीवनसाथी, पार्टनर, विलय, वासना का कारक होता है। तो वहीं आठवाँ भाव गुप्त धन और ज़िंदगी में आने वाले उतार-चढ़ावों का कारक होता है, इसलिए ये हफ्ता करियर के लिहाज़ से अच्छा समय सिद्ध होगा। इसके अलावा दशम भाव में चंद्र का गोचर आपके कार्य और कर्म को दर्शाता है, इसलिए आपको मनचाहा लाभ प्राप्त होने में थोड़ी-बहुत दिक्कत हो सकती है। लिहाज़ा मेहनत अधिक और फल की इच्छा कम रखते हुए ही आगे बढ़े तभी आपको भाग्य का अच्छा साथ मिलेगा। इस सप्ताह चंद्र आपके नवम भाव जो कारक होता है किस्मत, गुरु तुल्य लोगों से सम्बन्ध, यात्रा, धर्म आदि का, इसलिए आज आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जानें का प्लान बना सकते हैं। वैवाहिक जीवन में इस सप्ताह तनाव की स्थिति देखने को मिल रही है, क्योंकि सूर्य और केतु की सप्तम भाव में उपस्थिति वैवाहिक सुख के लिए अच्छी नहीं मानी जाती।
सिंह
इस हफ्ते चन्द्रमा आपकी राशि के छठें, सातवें, आठवें और नौवें भाव में गोचर करेंगे। जहाँ छठा भाव शत्रुता और स्वास्थ्य का कारक माना जाता है वहीं सातवां भाव जीवनसाथी और करीबियों के साथ संबंध का कारक माना जाता है। आठवां और नवम भाव क्रमशः आयु, धर्म और भाग्य का कारक माना जाता है। इसके अलावा मंगल इस हफ्ते आपकी राशि के आठवें भाव से निकलकर नौवें भाव में विराजमान होंगें। इसके फलस्वरूप इस हफ्ते आपके लिए अच्छे राज योग का निर्माण हो सकता है। पारिवारिक स्तर पर देखें तो ये हफ्ता आपके लिए काफी शांतिपूर्ण व्यतीत होगा। हफ्ते के आखिरी दिनों में परिवार में खुशियों का माहौल रहेगा और आप परिवार के सदस्यों के साथ एक अच्छा वक़्त गुजार पाने में सफल होंगें। परिवार के साथ किसी धार्मिक यात्रा पर जाने के योग भी बन रहे हैं। कानूनी मामलों से जुड़े पक्षों में पैसों का व्यय होने के साथ ही साथ सफलता मिलने की भी पूरी उम्मीद है। सिंह राशि के जातकों के आठवें भाव में मंगल का गोचर होने से उन्हें भाग्य का साथ पूर्ण रूप से प्राप्त होगा। बिजनेस के क्षेत्र में क्रियाशील लोगों को पार्टनरशिप से लाभ प्राप्त होने की विशेष संभावना है। वहीं दूसरी तरफ कार्यक्षेत्र में आपके परिश्रम की सराहना होगी और उच्च अधिकारियों के सहयोग से आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफलता हासिल कर पाएंगे। यदि आप इस समय जॉब में चेंज करने की सोच रहे हैं तो आपके लिए ये समय उचित नहीं है। सही समय आने का इंतज़ार करें और उसके बाद ही इस दिशा में कोई महत्वपूर्ण कदम उठाएं। रचनात्मक कार्यों में इस हफ्ते आपकी रुचि बढ़ेगी और आपको गूढ़ ज्ञान की प्राप्ति होगी। विद्यार्थियों के लिए ये सप्ताह काफी अच्छा व्यतीत होगा। आपको अपने परिश्रम का फल इस हफ्ते अवश्य मिलेगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को इस हफ्ते कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है जिससे उनका मनोबल बढ़ेगा।
कन्या
इस सप्ताह चन्द्रमा आपकी राशि से पंचम, षष्टम, सप्तम और अष्टम भाव में गोचर करेंगे। वहीं मंगल आपके अष्टम भाव में गोचर करेंगे और बुध का गोचर आपके छठे भाव में होगा, जो आपके सामने चुनौतियों को पेश कर सकता है। बहरहाल, ग्रहों की यह स्थिति बता रही है कि सप्ताह की शुरुआत में आपका रुझान अध्यात्म जैसे विषयों पर रह सकता है। छात्रों को इस सप्ताह अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। आप एकाग्रचित्त होकर पढ़ाई में ध्यान लगाएंगे। हालाँकि फैमिली फंक्शन की वजह से पढ़ाई में व्यवधान भी हो सकता है। इस सप्ताह घर में जमीन जायदाद को लेकर झगड़ा हो सकता है। ऐसी स्थिति में शांति बनाने का प्रयास करें और बातचीत के माध्यम से समस्या का समाधान निकालें। कोर्ट कचहरी से संबंधित मामलों में धन ख़र्च हो सकता है। आप घर इत्यादि बनवाने के लिए ऋण भी ले सकते हैं अथवा कोई प्रॉपर्टी भी ख़रीद सकते हैं। सप्ताह का लगभग अंतिम भाग अच्छा रहेगा, आपको बिज़नेस पार्टनरशिप से लाभ होगा। यदि आप किसी विदेशी व्यापार से संबंध रखते हैं तो उसमें आपको जबरदस्त मुनाफ़ा हो सकता है। सप्ताह के अंत में आपको अपनी सेहत का ध्यान रखने की आवश्यकता है। विशेषकर ख़ान-पान पर ध्यान दें। रात में हल्का भोजन करें और प्रातः जल्दी उठकर योग व व्यायाम करें। इससे आपका शरीर फिट रहेगा। विपरीत परिस्थिति में धैर्य बनाए रखें। स्थिति जल्द ही आपके अनुकूल होगी। इस सप्ताह आप अपने शत्रुओं से भी सावधान रहें। वे आपके खिलाफ़ किसी तरह की साज़िश भी रच सकते हैं। संतान की पढ़ाई को लेकर आपका पैसा ख़र्च हो सकता है। यदि आप घर से बाहर रह रहे हैं तो इस सप्ताह परिजनों का साथ पाकर आपको ख़ुशी महसूस होगी। इस सप्ताह आप अपने घरवालों के साथ किसी विवाह समारोह में जा सकते हैं।
तुला
इस सप्ताह जहाँ चन्द्रमा आपकी राशि से चतुर्थ, पंचम, षष्टम और सप्तम भाव में गोचर करेंगे। वहीं मंगल ग्रह आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेंगे। जिसके परिणामस्वरूप आपका अपनी पत्नी से विवाद हो सकता है, जिससे घर में थोड़ा अशांति का माहौल भी छा सकता है। हालांकि सप्ताह के अंत तक आप इस विवाद को अपनी समझ और सूझबूझ से हल कर पाने में कामयाब रहेंगे। चूँकि चौथा भाव काल पुरुष कुंडली में कर्क का होता है, जो कारक है माता, सुख, गृह निर्माण आदि का, इसलिए इस सप्ताह आपको जमीन या प्रॉपर्टी इत्यादि के बिज़नेस से लाभ प्राप्त हो सकता है। चंद्र की पाँचवें भाव में उपस्थिति बताती है कि आप सप्ताह के प्रारम्भ में अपने घर परिवार के साथ किसी धार्मिक कार्य को करवाने का मन बना सकते हैं। क्योंकि काल पुरुष कुंडली में ये भाव सिंह राशि का होता है जो विद्या, ज्ञान, संतान, अध्यात्म, आदि का कारक होता है। इसीलिए इस सप्ताह के अंत में संतान पक्ष की शिक्षा से आपके ख़र्च बढ़ जाने से आर्थिक जीवन थोड़ा असंतुलित हो सकता है। लेकिन करियर अच्छा रहेगा और नौकरी पेशा लोगों की आय में बढ़ोतरी हो सकती है। विद्यार्थियों के लिए चंद्र की स्थिति लाभकारी है क्योंकि इस सप्ताह उनके लिए जबरदस्त सफलता के योग बने हुए हैं। मंगल का गोचर होने पर अपने बिज़नेस पार्टनर से आपकी अन-बन हो सकती है। ऐसे में अपने गुस्से पर काबू रखें और कोई विवाद न करें, अन्यथा ये भविष्य में हानिकारक हो सकता है। इस सप्ताह आपको अपने विरोधियों और शत्रुओं से सावधान रहने की ज़रूरत होगी क्योंकि छठा भाव काल पुरुष कुंडली में कन्या राशि का होता है जो रोग व शत्रु का बोध कराता है, इसलिए इस सप्ताह आपको अपने स्वास्थ्य और शत्रुओं को नज़रअंदाज़ न करने की सलाह दी जाती है।
वृश्चिक
इस हफ्ते चन्द्रमा आपकी राशि के तीसरे, चौथे, पांचवें और छठे भाव में विराजमान होंगें। तीसरा भाव छोटे भाई के साथ रिश्ते, बौद्धिक विकास और साहस आदि का कारक माना जाता है। चौथा भाव मुख्यरूप से पारिवारिक प्रेम, भावनात्मक स्थिति और माता के स्वास्थ्य का कारक होता है। वहीं पांचवां और छठा भाव क्रमशः सुखी जीवन, निवेश, बच्चों की सफलता, शत्रु और स्वास्थ्य का कारक माना जाता है। इसके अलावा इस हफ्ते मंगल का गोचर आपकी राशि के छठे भाव में होगा जबकि आपके लग्न भाव में गुरु पहले से ही विराजमान हैं। जिसके चलते वृश्चिक राशि के जातकों के ऊपर गुरु की कृपा बनी रहेगी। हफ्ते की शुरुआत में कठिन परिश्रम के बाद ही आपको सफलता की प्राप्ति होगी। दूसरी तरफ बुध ग्रह का कुंभ राशि में गोचर होने से आपको उम्मीद से ज्यादा लाभ होने के संयोग हैं। लंबे समय से रुके हुए धन की प्राप्ति इस हफ्ते आपको हो सकती है। किसी पुराने मित्र या करीबी को दिया उधार आपको वापिस मिल सकता है। परिवार में छोटे भाई-बहनों से लाभ की प्राप्ति हो सकती है। माता के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें और परिवार के सदस्यों के बीच प्रेम भाव बनाये रखने के लिए विशेष प्रयास करने की आवश्यकता पड़ सकती है। आपकी कुंडली में मंगल और गुरु के पारस्परिक संयोग सेआपको समय-समय पर लाभ प्राप्त होता रहेगा। लेकिन मंगल के राशि परिवर्तन होने से आपको मानसिक अशांति का आभास होगा। इस हफ्ते आपको विशेषरूप से किसी प्रकार के कर्ज या ऋण के लेन देन से बचकर रहने की आवश्यकता है। आपकी संतान को किसी कष्ट की अनुभूति हो सकती है लिहाजा उनकी सेहत का विशेष ख्याल रखें। कुल मिलाकर देखा जाए तो इस हफ्ते आपका भाग्य आपको मिलाजुला परिणाम देगा।
धनु
इस सप्ताह चन्द्रमा आपकी राशि से द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ और पंचम भाव में गोचर करेगा जिस कारण से आपकी कुंडली में ये भाव सक्रिय अवस्था में रहेंगे। इसमें तीसरा भाव पराक्रम, छोटे भाई-बहन और चौथा भाव सुख, माता एवं प्रॉपर्टी आदि को दर्शाता है। इसी प्रकार पंचम भाव संतान भाव होता है। वहीं इस सप्ताह मंगल ग्रह आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर करेंगे। जबकि बुध आपके तीसरे भाव में गोचर करेंगे। ग्रहों की यह स्थिति बता रही है कि सप्ताह के प्रारम्भ में आपका धन धार्मिक कार्यो में खर्च हो सकता है। परंतु इसमें आपको आनंद की अनुभूति प्राप्त होगी और समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। आपको करियर या कार्यक्षेत्र में अच्छा लाभ हो सकता है। इसमें आपकी मेहनत रंग लाएगी। वहीं बिज़नेस पार्टनरशिप से भी अच्छा लाभ होने के आसार हैं। सप्ताहांत में आपको अचानक से धन लाभ हो सकता है या रुका हुआ धन मिल सकता है। जहाँ तक कार्यक्षेत्र की बात है तो इसमें आपको अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। इस सप्ताह आप भूमि, भवन या फिर वाहन आदि खरीद सकते हैं। आपके पराक्रम में वृद्धि होगी। इस दौरान आप बेबाकी से अपनी बातों को रखेंगे। पारिवारिक जीवन में बच्चों के माध्यम से आपको ख़ुशी मिलेगी। मंगल के पंचम भाव में प्रवेश करते ही यह आपकी आय बढ़ाने में मदद कर सकता है। वहीं सेहत को लेकर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है। अपच से संबंधित परेशानी हो सकती है। इसलिए स्वाद के चक्कर में आवश्यकता से अधिक भोजन न करें। छात्रों के लिए यह सप्ताह पढ़ाई के लिए अधिक उपयोगी रह सकता है। यदि आप उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं तो आपको इस सप्ताह कुछ नया ज्ञान प्राप्त हो सकता है। शिक्षण संस्थान में अच्छे दोस्त भी बनेंगे।
मकर
इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्र देव आपकी ही राशि में गोचर करेंगे, जो बाद में आपके द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ भाव में स्थित हो जाएंगे। इसलिए इन सभी भावों का फल इस पूरे सप्ताह आपको भोगना होगा। इसके अलावा इस सप्ताह मंगल आपकी राशि से चतुर्थ भाव में स्थान परिवर्तन करेंगे, जिसके चलते आपको अपने छोटे भाई-बहनों से अच्छा लाभ होगा। काल पुरुष कुंडली को देखें तो दूसरा भाव वृषभ राशि का होता है, जो धन, परिवार, नैतिकमूल्य, प्राथमिक शिक्षा, आदि का कारक होता है। इसके अलावा तीसरा भाव मिथुन राशि का होता है जो कारक है भाई-बहन, साहस, पराक्रम, छोटी दूरी की यात्रा आदि का। इसलिए आपको लघु यात्रा से अच्छा लाभ हो सकता है। आपको बिज़नेस पार्टनरशिप में किसी प्रकार का कोई धोखा भी हो सकता है, इसलिए आपको इस पूरे सप्ताह सचेत रहने की सलाह दी जाती है। यदि आपका कोर्ट कचहरी में कोई मामला चल रहा है तो उसमें प्रयासों के बाद ही सफलता मिलने की उम्मीद है। इस सप्ताह प्राथमिक विद्या अर्जित करने के लिए आप विदेश भी जा सकते हैं। लेकिन इस सप्ताह आपके लिए मानसिक अशांति बनी रहने की उम्मीद है। पहला भाव मेष राशि का है जो स्वभाव, स्वास्थ्य, योग्यता,शरीर, सुख, आदि का कारक होता है और चौथा कर्क राशि का जो माता, ग्रह निर्माण, भूमि सुख, आदि को दर्शाता है, इसी लिए आपकी सेहत इस सप्ताह ठीक ही रहेगी और आप अपनी योग्यता के बल पर धन अर्जित कर पाने में भी कामयाब रहेंगे। इस सप्ताह आपको अपनी माता से बात करते हुए अपने व्यवहार और अपनी वाणी का ध्यान रखना होगा, तभी आप उनसे किसी भी तरह के विवाद की स्थिति को टाल पाएंगे। यदि आप प्रॉपर्टी इत्यादि में अपना धन निवेश करने की सोच रहे हैं तो इस सप्ताह ये निवेश अच्छा फल देगा। सप्ताह की शुरुआत में आप धार्मिक कार्यो में तल्लीन रह सकते हैं। इस पूरे ही सप्ताह आपका पराक्रम काफी बढ़ा-चढ़ा रहेगा जिसके कारण मुश्किल कार्यों को करने में भी आप सफल होंगे।
कुम्भ
इस सप्ताह चन्द्र ग्रह आपकी राशि से द्वादश, लग्न, द्वितीय और तृतीय भाव में गोचर करेंगे। मंगल आपकी राशि से तृतीय भाव में करेंगे, वहीं बुध का आपके लग्न भाव में गोचर होगा । कुंडली में द्वादश भाव व्यय भाव कहलाता है। जबकि लग्न भाव तनु भाव होता है। वहीं द्वितीय एवं तृतीय भावों को क्रमशः धन भाव और पराक्रम का भाव कहा जाता है। साप्ताहिक राशिफल के अनुसार सप्ताह की शुरुआत में आपके खर्चे बढ़ सकते हैं। धन हानि भी हो सकती है। इसलिए आपको संभलकर आर्थिक फैसले लेने होंगे। आपको अपने फ़ालतू के ख़र्चों पर लगाम लगाने की आवश्यकता है। वहीं धन के मामले में ज़रुरत से ज्यादा दूसरों पर भरोसा न करें। दूसरी ओर देखें तो आपको विदेश से धन लाभ होने के योग दिखाई दे रहे हैं। यदि आप विदेश जाकर पढ़ाई करने के इच्छुक हैं, तो आपको इस संबंध में कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। करियर के लिहाज़ से यह समय अच्छा रहेगा। समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। आज किसी ऐसे व्यक्ति से मुलाकात हो सकती है जो समाज में अपना प्रभुत्व रखता है। यह कोई नेता या फिर बड़ा अधिकारी हो सकता है। यदि आप किसी कार्य को पूर्ण करने के लिए किसी से कर्ज लेना चाहते हैं तो आपको आसानी से क़र्ज़ मिल सकता है। सप्ताह के अंत में आपका पराक्रम बढ़ेगा और भाग्य का अच्छा साथ रहेगा। गुरु की सुख भाव पर दृष्टि से आपके सुखों में वृद्धि होगी। आप अपने ऑफिस के सहकर्मियों के साथ कहीं लम्बी दूरी की यात्रा कर सकते हैं। छात्रों को इस सप्ताह मिलेजुले परिणामों की प्राप्ति हो सकती है। हालाँकि किसी नए टीचर के लेक्चर में आपको आनंद आ सकता है। साथ ही कुछ नया भी सीखने को मिल सकता है।
मीन
इस हफ्ते चन्द्रमा की स्थिति आपकी राशि के प्रथम, द्वितीय, ग्यारहवें और बारहवें भाव में बन रही है। प्रथम भाव को लग्न भाव भी कहते हैं, ये आत्मविश्वास, व्यक्तित्व, स्वास्थ्य और आत्मसम्मान का कारक माना जाता है। द्वितीय भाव खासतौर से पारिवारिक स्थिति, नैतिक मूल्यों और प्रारंभिक शिक्षा का कारक माना जाता है। ग्यारहवां और बारहवां भाव धन लाभ और व्यय का कारक माना जाता है। इसके अलावा आपकी राशि के द्वितीय भाव में मंगल का गोचर हो रहा है। मंगल का गोचर आपको आर्थिक रूप से प्रभावित कर सकता है। इसके फ़लस्वरूप आपके खर्चों में बढ़ोत्तरी होगी लेकिन चन्द्रमा की स्थिति आपके ग्यारहवें भाव में होने से आपके आय में इजाफा भी होगा। देखा जाए तो इस हफ्ते एक हाथ से जहाँ आपको धन लाभ होगा वहीं दूसरे हाथ से धन का व्यय भी होगा। आर्थिक मजबूती बनाये रखने के लिए इस हफ्ते आपको अपने खर्चों पर काबू रखने की आवश्यकता है। विदेश यात्रा की कामना रखने वाले जातकों को इस हफ्ते काम के सिलसिले में विदेश जाने का अवसर प्राप्त हो सकता है। इसके साथ ही साथ कार्यक्षेत्र में इस हफ्ते कुछ महत्वपूर्ण बदलाव भी आपको देखने को मिल सकते हैं। इस दौरान आपको किसी महिला मित्र या सहकर्मी से सतर्क रहने की आवश्यकता है। व्यापार में उन्नति के लिए अपनी योजनाओं को साझेदार के साथ भी साझा करें। यदि आप किसी नए व्यापार में किस्मत आजमाना चाहते हैं तो इस दिशा में भाग्य का आपको साथ अवश्य मिलेगा। हफ्ते के अंत में अध्यात्म की तरफ आपका विशेष झुकाव होगा और धार्मिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगें। परिवार में आपकी उपस्थिति अन्य सदस्यों के लिए ख़ासा लाभदायक साबित होगी। छोटे भाई-बहन आपके काम में एक मजबूत सहारा बनकर उभरेंगे।

Related posts

राहुल गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले बर्खास्त शिक्षक को किया गया बहाल

Editor

पीएसी जवान की बेटी ने उठाया यह खौफनाक कदम…

Editor

द्वारकाधीश मंदिर से निकलने के बाद PM ने रोका काफिला, पुराने दोस्त से की मुलाकात

Editor