• Home
  • Ajab Gajab
  • ये भारतीय क्रिकेट का सुपर स्टार मैगी खाकर क्रिकेट के लिये बचाता था पैसे…
Ajab Gajab India Latest News Sports Top News Zara Hatkey

ये भारतीय क्रिकेट का सुपर स्टार मैगी खाकर क्रिकेट के लिये बचाता था पैसे…

नई दिल्ली: यह देश 120 करोड़ लोंगो का देश है, लेकिन इन सभी लोंगो की निगाहें उन 11 लोंगो पर रहती हैं, जो इस मैदान में खेल रहे होते हैं। इस मैदान में खेल रहे हर खिलाड़ी की एक अलग कहानी है। ये अलग जिंदगी से निकल कर आए हैं। आज हम आपको इन्‍हीं खिलाड़ी में से एक ऐसे खिलाड़ी की कहानी सुनाएंगे जो मैगी खा कर पला बढ़ा। इन्‍हें बल्‍लेबाजी और गेंद बाजी दोंनो में ही महारत हासिल है। क्रिकेट प्रेमी इन्‍हें सिक्‍सर बॉय कहते हैं। चयनकर्ता इनमें All rounder वाली छवि देखते हैं। Hardik Pandya को यह सब ऐसे ही नहीं मिला। इसके पीछे की कहानी काफी प्रेरणादायक भी है और प्रशंसनीय भी। 2. Hardik Pandya का जन्म Hardik Pandya का जन्म 11 अक्टूबर 1993 में सूरत, गुजरात में हुआ था। हार्दिक के पिता क्रिकेट खेल के बड़े प्रेमी थे। वे अक्‍सर हार्दिक को क्रिकेट दिखाने के लिये स्‍टेडियम ले जाया करते थे। हार्दिक की पढ़ाई में बेहद कम रूचि थे। वे 9वी क्‍लास में फेल भी हुए हैं।

क्रिकेट के सपनों को पूरा करने के लिये हार्दिक ने बहुत महनत की। 3. Hardik Pandya के साथ Kunal Pandya भी बेहतरीन क्रिकेट खेलते थे Hardik Pandya के साथ Kunal Pandya भी बेहतरीन क्रिकेट खेलते थे, और पिता ने इन दोंनो को बेहतर क्रिकेटर बनाने के लिये सूरत से अपना व्‍यापार समेट कर बड़ोदरा शिफ्ट हो गए। 4. नहीं थे फीस के पैसे दोंनो भाइयों की प्रतिभा और मालि हालत देखते हुए किरन ने ये फैसला लिया कि इन दोंनो भाइयों की कोई भी फीस नहीं लगेगी। यानी की इन दोंनो को क्रिकेटर बनाने में क्रिकेटर किरन मोरे का बहुत बड़ा हाथ रहा। 5. एक ओर Panya Brothers क्रिकेट सीख रहे थे तो वहीं पिता का बिजनस सिमटने लगा दोंनो भाइयों के घर की हालत खराब होने के नाते किरन मोरे ने उन्‍हें फ्री में क्रिकेट सिखाने को बोल दिया। दोंनो भाई मैदान पर बेहतरीन प्रर्दशन करने लगे।

6. Panya सिर्फ मैगी खा कर मैदान पर practice करते थे आर्थिक तंगी की वजह से वह सिर्फ मैगी खाते थे और भोजन से पैसे बचा कर क्रिकेट के सामान खरीदते थे।  क्रिकेट खेलने को नहीं था खुद का बैट 2014 में Hardik Pandya एक क्रिकेट मैच खेल रहे थे, जिसमें उनके पास खुद का बैट ही नहीं था। उस वक्‍त भारतीय क्रिकेट के सूपर स्‍टार क्रिकेटर इरफान पठान ने उन्‍हें दो बैट गिफ्ट में दिये। उस मैच मेंउन्‍होंने 80 रस की शानदार पारी खेली। और उसी मैच के दौरान जॉन राइट जो कि भारतीय कोच थे, उनकी नज़र उन पर पड़ गई। फिर उन्‍होंने इस खिलाड़ी को मुंबई इंडियन के साथ 10 लाख की कीमत में जोड़ लिया। और यहीं से शुरु हुआ हार्दिक पांडया के ऊपर चढ़ने का सिलसिला।

  Pandya ने चयनकर्ताओं को कभी निराश नहीं किया 2 Man of the Match के साथ पांडया ने सबका ध्‍यान अपनी ओर खींच लिया। इनके क्रिकेट में गजब का ठहराव है। उनके ठहराव में इतिहास बनाने की काबीलियत है। प्रेशर में भी खेलते हैं अच्‍छा साल 2014 में मुंबई इंडियन में हार्दिक पांडया शामिल हुए और उनकी पहली मुलाकात हुई सचिन तेंदुलकर से। सचिन ने इस मुलाकात के बाद कह दिया था कि टीम इंडिया को एक बड़ा सितारा मिलने वाला हे। ड्रेसिंग रूम में करते हैं काफी मस्‍ती Pandya क्रिकेट रूम से लेकर क्रिकेट की बाहरी दुनिया तक हर चीज़ को इंज्‍वॉय करने की कोशिश करते हैं।

Related posts

कुत्ते के गले में डाली सांसद के नाम की तख्ती,सर्वणों ने किया एससी-एसटी एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन

Editor

अकीडो में ब्लैक बेल्ट हैं राहुल गांधी, ट्विटर पर साझा की तस्वीरें

Editor

क्या आपने देखी है ऐसी हॉट योगा गर्ल, लोगों को बना रही दीवाना

Editor