Crime India Kanpur Latest News Top News Uttar Pradesh

परीक्षा के लिए पूरी तरह तैयार न होने पर छात्रा ने उठाया खौफनाक कदम

कानपुर: इंटरमिडीयट की एक छात्रा ने पूरी रात पढाई कर हिंदी के फर्स्ट पेपर की तैयारी की। लेकिन उसने मंगलवार सुबह फांसी लगाकर सुसाईड कर लिया। जब परिजनों को बेटी का शव पंखे से लटकता मिला तो परिवार में कोहराम मच गया। सुसाईड की सूचना पर पहुची पुलिस ने शव को फंदे से नीचे उतारा।छात्रा के रूम को चेक करने पर पुलिस को उसकी किताबों के बीच से एक सुसाईड नोट बरामद हुआ। जिसमें छात्रा ने लिखा था कि मुझे परीक्षा से डर लग रहा है और परीक्षा के लिए मै पूरी तरह से तैयार नहीं हूँ। फ़िलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

कल्यानपुर थाना क्षेत्र स्थित शिवपुरी में रहने वाले रामऔतार दिवाकर प्राइवेट नौकरी करते है। परिवार में पत्नी संगीता बड़ी बेटी गायत्री और बेटे ज्ञानेंद्र के साथ रहते है।गायत्री इंटर की छात्रा थी और मंगलवार को उसका हिंदी सामान्य का प्रथम पेपर था। गायत्री सोमवार देर रात तक पढाई करती रही जब ने उससे सोने के लिए कहा तो उसने कुछ देर और पढ़ लू फिर सो जाउंगी।लेकिन मंगलवार सुबह परिजन गायत्री को जगने के लिए पहुंचे तो उन्होंने देखा कि उसका शव फंदे से झूल रहा था। परिजनों ने सुसाईड की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी।छात्रा के पिता का कहना है कि मंगलवार को 2 बजे से गायत्री का पेपर था।

वो पढाई में अच्छी थी और हाई स्कूल में भी उसकी फर्स्ट डिविजन थी। वो परीक्षा से डरने बच्चों में नही थी लेकिन उसके मन ऐसा क्या आया जो उसने फांसी लगा ली। एक बार इस विषय में मुझसे बात तो करती उसको मै समझाता लेकिन उसने मुझे मौका ही नहीं दिया।सीओ कल्यानपुर राजेश पाण्डेय के मुताबिक इंटर की एक छात्रा ने सुसाईड किया है। जिसमें एक सुसाईड नोट भी बरामद हुआ है जिसमें लिखा है कि मेरी इंटर की परीक्षा है जिसकी मेरी पूरी तयारी नहीं है। जिस कारण से मै सुसाईड कर रही हूँ। इसके लिए कोई जिम्मेदार नहीं है।फ़िलहाल इस घटना की जाँच की जा रही है।

Related posts

शत्रुघ्न संग BJP के बागी नेता यशवंत सिन्हा पहुंचे AAP की रैली में, दिया केजरीवाल ने बड़ा ऑफर

Atul kashyap

अमित शाह का महागठबंधन की चुनौती पर बयान, 2019 में कोई मुकाबले में नहीं दूर-दूर तक

Ankit Sharma

कोर्ट: शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच में अभी और कितने दिन लगेंगे, लिखित में दे योगी सरकार

Editor