India Latest News Lucknow Top News Uttar Pradesh

एक छोटी सी बात को लेकर हुई लड़ाई तो बारात लौटी बिना दुल्हन के अपने घर

शाहजहांपुर: एक छोटे से विवाद की सजा यहां दुल्हा और दुल्हन को भुगतनी पड़ी। दुल्हे के साथ चल रही लड़कियों ने बीच रोड पर डांस किया तो दुल्हन पक्ष के एक युवक ने वीडियो बना लिया। जिसके बाद डांस कर रही लड़की ने युवक को थप्पड़ जड़ दिया। फिर क्या था। दुल्हा पक्ष और दुल्हन पक्ष आमने सामने आ गए। दुल्हन पक्ष ने बारातियों को करीब दो घंटे तक बंधक बनाए रखा और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुची पुलिस ने मामले मे एक दूसरे को सामान लौटाने का फैसला कराकर बारातियों को वापस भेज दिया। जानकारी के मुताबिक बीते बुधवार को दिन मे थाना कोतवाली क्षेत्र मे दिल्ली से एक बारात आई। दुल्हन पक्ष की तरफ भी बारातियों के स्वागत की पूरी तैयारियां कर ली गई थी। बारात में खाने का भी इंतजाम चल रहा था।

दिल्ली से आई बारात दुल्हन के घर से कुछ दूर पर रूक गई और वहां से दुल्हे के साथ कुछ लड़कियों बीच रोड पर डांस करती हुई चलने लगी। तभी डांस करते हुए एक लड़की का वीडियो दुल्हन पक्ष के एक युवक ने बना लिया। वीडियो बनता देख लङकी को गुस्सा आ गया और उसने युवक को एक थप्पड़ जड़ दिया। हालांकि उस वक्त बीचबचाव करा दिया गया।कुछ समय बाद फिर उसी युवक ने वीडियो बनाने की कोशिश तो बात जयादा बिगङ गई। बात बारात वापस लौटने तक पहुच गई। इधर दुल्हन पक्ष ने शादी करने से इंकार कर दिया। दुल्हन के पिता ने निकाह पङाने से साफ इंकार कर दिया। उधर दुल्हा पक्ष भी बगैर दुल्हन के बारात ले जाने पर अड़ गए। हालांकि दोनों पक्षों के कुछ ऐसे लोग भी बीच में आ गये जो ये चाह रहे थे कि ये शादी हो जाए।

रात हो चुकी थी। तब दुल्हन के पिता ने बताया कि वह एक महीने पहले ही दिल्ली से खरीदकर दान दहेज दे चुके है। और अब दिया हुआ दहेज वापस चाहिए। इतने मे दुल्हा पक्ष भागने की कोशिश करने लगा तो दुल्हन पक्ष ने उनको करीब तीन घंटे तक बंधक बनाए रखा। तभी दुल्हन पक्ष ने डायल 100 पुलिस को फोन किया। मौके पर पहुची पुलिस ने दोनो पक्षो मे बात कराकर समझौताा कराया और दोनो पक्ष एक दूसरे को दिया हुआ सामान वापस करने पर राजी हो गए। उसके बाद ही दूल्हा वापस दिल्ली जा सका। बगैर दुल्हन के बारात वापस लौटने की इलाके मे खास चर्चा का विषय बनी हुई है। थाना कोतवाली इंस्पेक्टर राजकुमार तिवारी का कहना है कि थाने पर कोई पक्ष नही आया था। लेकिन जानकारी आई थी कि डायल 100 पुलिस को फोन करके बुलाया गया था।

उनके द्वारा हमे सूचना मिली थी लेकिन डायल 100 टीम के सामने ही दोनो पक्ष एक दूसरे को दिया गया समान वापस लोटाने पर राजी हो गए थे। थाने पर किसी पक्ष ने लिखित सूचना नही दी है।

Related posts

देशवासियों को राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने दी ईद की बधाई…

Editor

मेरठ: लव जिहाद के नाम पर घर में घुसकर लड़के और लड़की के साथ की गई अभद्रता

Editor

विजयादशमी : इस मुहूर्त में किया गया कोई भी शुभ कार्य नही होगा असफल

Editor