India Latest News Politics Top News

शिवराज सिंह पर पत्थर के बाद अब फेंका गया जूता…

भोपाल: मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान पथराव के बाद अब उनपर जूता फेंका गया है। सीएम के ऊपर जूता उस वक्त फेंका गया जब वे सीधी में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। हालांकि इतनी खैर रही कि जूता सीएम शिवराज को नहीं लगा। घटना के बाद सीएम शिवराज कुछ समय के लिए चुप हो गए और उनके सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें सुरक्षा घेरे में ले लिया। सीएम पर जूता फेंके जाने की घटना से सभास्थल पर अफरातफरी मच गई।एससी-एसटी एक्ट भाजपा के गले की फांस बनता जा रहा है। रविवार को जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीएम शिवराज के काफिले के ऊपर पत्थर फेंके गए थे और काले झंडे दिखाए गए थे। इस घटना के बीच एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमे भरी सभा में मंच पर संबोधित करते हुए सीएम पर किसी शख्स ने जूता फेंका। हालांकि जूता सीएम को नहीं लगा।

जूता फेंकने की घटना के बाद तुरंत ही सीएम के सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें घेर लिया। सीएम के काफिले पर पथराव की घटना के बाद यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि जूता फेंकने वाले एससी/एसटी एक्ट का विरोध कर रहे थे। शिवराज सिंह ने कहा कि, ‘कांग्रेस मेरे खून की प्यासी हो गई है। एमपी की राजनीति में यह कभी नहीं हुआ। विचारों का संघर्ष चलता था, अलग-अलग पार्टियां अपने कार्यक्रम करती थीं, लेकिन कभी यह नहीं हुआ।’ शिवराज ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को घेरते हुए कहा कि आखिर वे पार्टी (कांग्रेस) को किस दिशा में ले जाना चाहते हैं। शिवराज ने उनसे सवा किया कि सूबे में जो उनके नेता और कार्यकर्ता कर रहे हैं, क्या वह उचित है? मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस ने मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान हुई पत्थरबाजी के मामले में 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वह सभी कांग्रेस के नेता हैं। यह घटना शर्मनाक है।

इससे यह साबित होता है कि सत्ता में आने के लिए कांग्रेस हर तरह के कानून तोड़ सकती है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पहले कांग्रेस अपशब्दों का प्रयोग करते थे लेकिन अब हिंसा पर उतारू हो गए हैं। यह हमला जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान रविवार की रात सीधी जिले के चुरहट में हुआ। पथराव के समय मुख्यमंत्री रथ में मौजूद थे। हालांकि उन्हें कोई चोट नहीं आई। वहीं बीजेपी ने पत्थरबाजी का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ा और उन्हें जिम्मेदार ठहराया है। वहीं, जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीधी के मायापुर में शिवराज सिंह चौहान को विरोध का सामना करना पड़ा जब उनके रथ के पास खड़े होकर कुछ लोगों ने काले झंडे दिखाए। जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर हाल के दिनों में राज्य में बीजेपी और कांग्रेस के बीच तनातनी देखने को मिली है।

Related posts

तमाशे ने ली 17 साल के सुमित की जान, 24 घंटे के लिये दबाया गया था गड्ढे में

Editor

अमेरिकी कंपनी अपने क्रमचारियो के शरीर में लगाएगी ये चिप

Editor

शिक्षामित्रों को हाईकोर्ट का झटका, अब नहीं मिलेगी 68500 शिक्षक भर्ती में नौकरी

Editor