• Home
  • India
  • हाल ए सहारनपुर : नदी नालों का पानी पीकर बुझाई जा रही है प्यास
India News Plus Saharanpur News Top News Uttar Pradesh

हाल ए सहारनपुर : नदी नालों का पानी पीकर बुझाई जा रही है प्यास

सहारनपुर। भले ही बरसात के मौसम में प्रदेश की नंबर वन विधानसभा क्षेत्र बेहट की धरती बारिश के कारण गिली हो गई हो, लेकिन यहां रहने वाली आबादी और मवेशियों को प्यास बुझाने तक का पानी नसीब नहीं हो रहा है। भोजन पकाने और पीने के लिए पानी न मिलने के कारण लोगों ने जमकर हंगामा किया। दर्जनों गांव पेयजल किल्लत से जूझ रहे हैं। लोगों को बरसाती नदी का पानी पीकर अपने मवेशियों की प्यास बुझानी पड़ रही है।
एक और जहां शिवालिक पहाड़ियों पर आए दिन हो रही तेज बारिश से नदी नाले बरसाती पानी से उफान पर है तथा कई जगह कहर बरपा रहे हैं इसके विप​रित घाड क्षेत्र में बरसात के मौसम में भी पेयजल के चलते खवासपुर, हिंदू वाला, मगनपुरा, फैजाबाद आदि दर्जनेां गांव पीने का पानी मयस्सर ना होने के कारण नदी नालों का पानी पेयजल के रूप में उपयोग कर रहे हैं तथा मवेशियों को भी अपने संसाधनों से नहर राज बाहे इत्यादि से पानी ढोकर उनके प्यास बुझा रहे हैं। गांव फैजाबाद, मगनपुरा में जल निगम ट्यूबवेल की मोटर फुंकी थी तो अब विद्युत पोल गिरे हुए हैं जिसके चलते पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। उधर गांव खवासपुर हिंद वाला में भी इन्हीं समस्याओं से जूझना पड़ रहा है.

शनिवार को गांव फैजाबाद मगनपुरा के लोगों ने जल निगम एवं विद्युत विभाग के खिलाफ नारेबाजी करते हुए शासन और प्रशासन को जगाने की कोशिश की लेकिन पेयजल किल्लत से निजात नहीं मिल सकी ग्रामीण चौधरी बिलाल, चौधरी नवरत्न, चौधरी दिल्ला लाल, दीन शहजाद, फुरकान, भुरा चौधरी, असलम, रूपराम, साजिद, इकराम, आजम, रिजवान चौधरी, सोबान आदि लोगों ने विभाग एवं शासन प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया। क्षेत्रीय विधायक नरेश सैनी ने आश्वासन देते हुए कहा कि घाड़ की जनता को पेयजल किल्लत से नहीं जूझना पड़ेगा उनके द्वारा संबंधित विभाग में अधिकारियों को अवगत कराया गया है जल्दी समस्या समाप्त की जाएगी।

Related posts

आइये जाने कैसे बनाएं ये टेस्‍टी कैरेमल कस्‍टर्ड…

Editor

जाने महिलाएं क्या क्या सोचती हैं, प्रेगनेंसी के आखिरी दिनों में…

Atul kashyap

स्वतंत्रता इतिहास : आजादी के आंदोलन के दौरान शहीद भगत सिंह ने यहां खेली थी कुश्ती, VIDEO

Editor