Entertainment India Rajnikanth Birthday Top News

जानिए कैसा रहा रजनीकांत का फिल्मी सफर

नई दिल्ली : रजनीकांत तमिल फ़िल्म अपूर्व रागंगल (के माध्यम) से अपने फ़िल्म कैरियर शुरू किया,दा-हिंदू से एक समीक्षा ने कहा कि, “नवागंतुक रजनीकांत सम्मानजनक और प्रभावशाली है” कथा संगम (जनवरी, 1975), नई लहर शैली में Puttanna Kanagal द्वारा किए गए एक प्रयोगात्मक फ़िल्म की। १९७८ में,रजनीकांत तमिल, तेलुगू, कन्नड़ और में २० अलग-अलग फ़िल्मों में स्टार रहे साल की उनकी पहली फ़िल्म पी माधवनशंकर सलीम साइमन कि थी।बाद मे उन्हे कन्नड़ फ़िल्म में देखा गया था सह-कलाकार विष्णुवर्धन के साथ देखा गया।

१९८० के दशक के उत्तरार्ध में, रजनीकांत नान षिगप्पु ंअनिथन (१९८५), Pअदिक्कथवन (१९८५), श्री भरत (१९८६), Vएल्ऐकरन (१९८७), गुरु षिश्यन (१९८८) और ढर्मथिन ठल्ऐवन तरह व्यावसायिक रूप से सफल फ़िल्मों में अभिनय किया (१९८८)। १९८८ में उन्होंने तामड़ा में अपने ही अमेरिकी फ़िल्म उपस्थिति, ड्वाइट लिटिल द्वारा निर्देशित है, जिसमें उन्होंने एक अंग्रेजी बोलने वाले भारतीय टैक्सी ड्राइव कि भुमिका निभाई।रजनीकांत ड़जधि ड़ज​, शिव, राजा चिन्ना रोजा और मप्पिल्ल्ऐ करते हुए भी कुछ बॉलीवुड फ़िल्मों में अभिनय करने सहित फ़िल्मों के साथ एक दशक समाप्त हो गया।

राजा चिन्ना रोजा रहते कार्रवाई और एनीमेशन सुविधा के लिए पहली भारतीय फ़िल्म थी। रजनीकांत का जन्म एक मराठी मराठा हेन्द्रे पाटील परिवार मे हुआ रजनीकांत का पुरा नाम शिवाजीराव गायकवाड है पिताजि रामोजीराव और मा का नाम जिजाबाई गायकवाड है। रजनीकांत जी ने लता रंगाचारी से २६ फरवरी १९८१, तिरुपति, आंध्र प्रदेश शादी की ,जो इतिराज कॉलेज की एक छतरा थी जिन्हों उनकअ कलेज की पत्रिका के लिए साक्षात्कार किया था।

प्रमुख फिल्में :

कबाली,  रोबोट,  बाबा,  बुलन्दी,  आगाज़,  क्रांतिकारी,  आतंक ही आतंक,  इंसानियत के देवता,  चोर के घर चोरनी,  त्यागी,  दलपति,  फूल बने अंगारे ,  हम,  खून का कर्ज़,  फरिश्ते,  किशन कन्हैया,  चालबाज़,  भ्रष्टाचार,  तमाचा,  उत्तर दक्षिण,  असली नकली,  दोस्ती दुश्मनी,  भगवान दादा,  वफ़ादार,  आज का दादा,  बेवफ़ाई,  महागुरु,  गंगवा,  मेरी अदालत,  ज़ुल्म की ज़ंजीर,  इंसाफ कौन करेगा,  आखिरी संग्राम,  जॉन जानी जनार्दन,  अंधा कानून,  राम रॉबर्ट रहीम,  जॉनी,  प्रिया,  गायत्री,  मूंदरू मुदिचू

Related posts

गडकरी ने दिए दिसंबर तक नमामि गंगे परियोजना पूरी करने के निर्देश, जानें कितना काम हुआ पूरा

Ankit Sharma

निजता के अधिकार को मौलिक के रूप में चिन्हित करना ‘सकारात्मक प्रगति’: जेटली

Editor

खुशखबरी: अब उत्तराखंड करेगा ‘शाइन’, राज्य की बनी स्टार्टअप नीति…

Editor