Ajab Gajab fast and festivals Happy Diwali India Lifestyle Top News Zara Hatkey भैया दूज

भाई दूज 2018 : इस जगह भाई दूज के दिन मनाई जाती है दीवाली

नई दिल्ली : भले ही हर जगह और हर मंदिर पर कल यानि 7 नवंबर को दीपावली मनाई गई हो, लेकिन कानपुर देहात के मंगलपुर गांव में स्थित भगवान विष्णु के मंदिर पर भाई दूज के दिन दीपावली मनाने की परंपरा है। यहां के लोगों की मानें तो ढाई सौ साल पुराने इस मंदिर पर दीपावली भाई दूज को ही मनती है।मंगलपुर गांव का चतुर्भुज मंदिर भगवान विष्णु का मंदिर है। इस मंदिर की आस्था आसपास के सैकड़ों गांवों में है। इस मंदिर की स्थापना कब हुई इसकी सही जानकारी तो गांव के 90 से 100 साल के बुजुर्ग भी इसकी स्थापना का समय नहीं बता पाते हैं। इसको लेकर उनका अनुमान है कि उन्होंने जो अपने बुजुर्गों से सुना है उससे अनुमान है कि मंदिर करीब ढाई सौ वर्ष से भी अधिक पुराना है। मंदिर की स्थापना को लेकर कहा जाता है कि एक लाखा बंजारा औरैया के निकट किसी स्थान पर भगवान विष्णु का मंदिर बनवाने के लिए मूर्ति को लेकर बैलगाड़ी से जा रहा था।

मंगलपुर में तालाब के किनारे इस स्थान पर बरगद का पेड़ था। रात होने के कारण बंजारा वहां रुक गया। उसे दीपावली के दिन वहां पहुंचना था। दीपावली के दिन भोर पहर उसने चलना चाहा तो उसकी गाड़ी आगे नहीं बढ़ी।दिन भर कई तरह के प्रयत्न किए गए। शाम तक थक हार कर वह सो गया , तो उसे मूर्ति वहीं स्थापित करने का स्वप्न हुआ। इस पर एक कच्चे चबूतरे पर वह मूर्ति स्थापित करके चला गया। लोगों ने बताया कि पहले मंदिर ककराही ईंटों का था, बाद में उसे नया रूप दिया गया है। भाई दूज के दिन भगवान विष्णु की स्थापना होने के कारण इस मंदिर पर उसी दिन दीपोत्सव का आयोजन होता है। मंदिर के तीन तरफ तालाब होने से यहां का नजारा बिल्कुल क्षीर सागर की तरह नजर आता है। आस्था के कारण यहां भाई दूज से ही मेला लगता है जो करीब एक सप्ताह चलता है।

Related posts

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का आज पूर्वी यूपी का दौरा

Editor

मेनोपॉज़ के बाद सेक्स लाइफ को मेंटेन करने के लिए 5 टिप्स

Editor

दुल्हन मेहंदी लगाकर करती रही रात भर इंतजार, आई नहीं बारात…

Editor