Crime India Latest News Top News

रेप करने से पहले मासूमों की तोड़ देता था टांग, पुलिस ने ऐसे किया गिरफ्तार

गुरुग्राम: राजधानी दिल्‍ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम के सेक्टर-66 में हुए 3 साल की बच्ची से रेप के मामले में पकड़े गए आरोपी के जो बयान दिया है उसने पुलिस महकते के होश उड़ा दिए हैं। पूछताछ के दौरान आरोपी युवक ने अब तक 9 बच्चियों के साथ दरिंदगी कर उनकी हत्या करने की बात कबूल की है। इतना ही नहीं उसने कबूल किया है कि मासूमों का रेप करने से पहले उनकी टांग तोड़ दिया करता था। सभी बच्चियों की उम्र 3 से 8 साल के बीच में थी। आरोपी की पहचान सुनील (20) के रूप में हुई है। तो आइए इस सीरियल रेपिस्ट की खौफनाक कहानी को विस्‍तार से जानते हैं। 12 नवंबर को गुरुग्राम में तीन साल की बच्ची के साथ वीभत्स रेप और मर्डर का मामला समाने आया था।

इस बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाने वाले हैवान ने रेप के बाद बच्ची के शरीर पर ईंट रख दिए और उसका सिर प्लास्टिक बैग से ढंक दिया। इससे भी ज्यादा वीभत्सता दिखाते हुए आरोपी ने उसके प्राइवेट पार्ट में 10 सेमी लंबा लकड़ी का एक टुकड़ा घुसा दिया।इस मामले में पास ही के झुग्गी में रहने वाले सुनील पर आरोप लगा था। पुलिस ने लोगों से पूछताछ के बाद शनिवार देर रात को उसे झांसी से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को सुनील को पकड़ने में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सुनील नाम का यह शख्स मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करता, जिस कारण धर-पकड़ में पुलिस को दिक्कत हुई। सुनील ने पुलिस से पूछताछ में बताया कि वह झुग्गी में रहने वाली, भंडारा में खाने गई मासूम को अपना शिकार बनाता था।

पुलिस ने बताया कि वह इन बच्चियों को चिप्स और चॉकलेट देने के लालच से अपने साथ लेकर जाता और फिर अपने हवस का शिकार बनाता। आरोपी अक्सर मंदिर के भंडारों में जाता था और वहां से बच्चियों का अपहरण कर लेता था। मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डीसीपी क्राइम सुमित कुमार ने बताया कि जांच में पुलिस को पता चला कि आरोपी सड़क किनारे कहीं भी सो जाता है, कभी मजदूरी कर लेता है। साथ ही भंडारे में खाना खाने का उसे शौक है। आरोपी को फंसाने के लिए पुलिस ने बीते मंगलवार को गुड़गांव के एक हनुमान मंदिर में, गुरुवार को साईं मंदिर में और शनिवार को शनि मंदिर में भंडारे का आयोजन किया।

साथ ही जांच के दौरान 100 से अधिक पुलिसकर्मियों ने सड़क किनारे रात को सोने वालों, कंस्ट्रक्शन साइट पर मजदूरी करने वाले करीब 2 हजार लोगों को चेक किया। लेकिन आरोपी गुड़गांव में पकड़ा नहीं जा सका। उसके बाद पुलिस को टिप मिली और फिर झांसी से उसे गिरफ्तार किया गया। पुलिस को पूछताछ के दौरान सबसे हैरान और चौंकाने वाली बात यह पता चली की सुनील मासूमों को अपने साथ लेकर जाता। रेप करने से पहले उनकी टांगे तोड़ देता और फिर अपने हवस का शिकार बनाता था। बाद में वह मासूमों को मौत के घाट उतार देता और शव को ठिकाने लगा कर दफा हो जाता। उसने सभी मासूमों के साथ ऐसा ही बर्ताव किया। सभी बच्चियों की उम्र 3 से 8 साल के बीच थी।

इनमें 3 मामले गुड़गांव, 4 मामले दिल्ली, एक ग्वालियर और एक झांसी का मामला शामिल है। गुड़गांव पुलिस अब दिल्ली, ग्वालियर और झांसी पुलिस से संपर्क कर उनके पास दर्ज केसों की जानकारी जुटा रही है। पुलिस ने बताया कि उसका कोई स्थायी ठिकाना नहीं है। वह भंडारे में खाता और इधर-उधर सो जाता। मासूमों की रेप और हत्या करने के बाद सुनील शराब पीता था और इसका जश्न मनाता था। पुलिस पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है कि सुनील ने दो साल के भीतर ही सारी घटनाओं को अंजाम दिया है। इससे पहले नवंबर 2016 और जनवरी 2017 में सुनील ने गुरुग्राम में ही दो बच्चियों से रेप और उनकी हत्या की थी।

Related posts

अटल बिहारी वाजपेयी छोड़ गए हैं अपने पीछे कितनी संपत्ति…

Editor

गंगा दशहरा पर स्नान करने से मिलती है पापों से मुक्ति

Editor

PHOTOS : मई की गर्मी में हॉट बौछारों ने कर दिया सभी को मदमस्त

Editor