India Latest News Technology Top News

2019 में आ रहा है 5G, 7 सेकेंड में डाउनलोड कर सकेंगे फिल्म

नई दिल्ली: 2019 में इंटरनेट की दुनिया में बड़ा बदलाव होने वाला है। इसकी शुरुआत हो चुकी है। हम बात कर रहे हैं 5जी नेटवर्क की। जो अगले कुछ महीनों में आपके स्मार्टफोन में होगा। लेकिन यह तकनीक सिर्फ तेज स्मार्टफोन ही नहीं बल्कि कई अन्य प्रकार के उपकरणों को भी प्रभावित करेगी। जिसमें औद्योगिक रोबोट, सुरक्षा कैमरे, ड्रोन और कार शामिल हैं जो एक दूसरे को ट्रैफ़िक डेटा भेजते हैं। यह नया युग मोबाइल इंटरनेट को गति प्रदान करके वर्तमान वायरलेस तकनीक 4 जी से आगे ले जाने के लिए जाना जाएगा। जिससे लोग कुछ सेकंड के भीतर पूरी फिल्में डाउनलोड कर सकेंगे। इसके अलावा सबसे बड़ा बदलाव वीडियो गेम, खेल और शिपिंग के क्षेत्र में देखने को मिलेगा।

5 जी को मोबाइल इंटरनेट की पांचवी पीढ़ी कहा जा सकता है। कुछ सालों के अंतराल पर हर बार मोबाइल इंडस्ट्री बेहतरीन इंटरनेट स्पीड के लिए खुद को अपग्रेड करती है। 5जी यानी हाई स्पीड इंटरनेट। 5G नेटवर्क 1 सेकंड में 4.5 गीगाबाइट्स तक की स्पीड पकड़ सकेगा। 3जी और 4जी के मुकाबले, इसके ज़रिए 20 गुना तेजी से डेटा डाउनलोड और ट्रांसफर किया जा सकेगा। इसमें एक साथ कई डिवाइसेस को इंटरनेट से जोड़ा जा सकेगा। 5जी आने से एचडी वीडियो की दुनिया में बड़ा बदलाव देखने को मिला। 5 जी इंटरनेट की स्पीड से एक सामान्य फिल्म को 7 सेकेंड में डाउनलोड किया जा सकता है। जबकि 4जी से इस फिल्म को डाउनलोड करने में लगभग 6 मिनट लगते हैं। सैमसंग ने हाल ही में 5G स्मार्टफोन के प्रोटोटाइप का प्रदर्शन किया था।

इस रेस में कई स्मार्टफोन कंपनियां शामिल हैं हालांकि इस रेस में एप्पल शामिल नहीं है। एप्पल का 5जी फोन 2020 में आ सकता है। 5जी के आने से हम सभी इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल डिवाइस को आपस में एक दूसरे से जोड़ सकते हैं, और इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि हम सभी चीजों को अपने स्मार्टफोन से कंट्रोल कर पाएंगे। 5जी आने से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी का दायरा बढ़ने की उम्मीद है। कई क्षेत्रो में इसका इस्तेमाल तेज़ी से विस्तार हो रहा है और 2019 में इसका इस्तेमाल हेल्थ, साइबर सिक्योरिटी, सपोर्ट सर्विस, एग्रीकल्चर, ट्रांसपोर्टेशन आदि में बढ़ेगा। इसके अलावा ब्लॉक चेन टेक्नोलॉजी, रियलिस्टिक रोबोट और डेटा माइनिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल भी तेजी से बढ़ रहा है।

5जी की मदद से स्वचालित कारों के AI कम्पोनन्ट में सुधार किया जा सकेगा। स्वचालित कारों में जल्दबाजी के चक्कर में उनका मार्गदर्शन नहीं हो पाता, जिसकी वजह से उन्हें चलाने के लिए मानवीय हस्तक्षेप की ज़रूरत पड़ जाती है, लेकिन 5 जी के आने के बाद स्वचालित कारों का स्वरूप और दिशा ही बदल जाएगी। 5 जी के ज़रिए स्वचालित कारें भी एक दूसरे से बेहतर संवाद कर पाएंगी और ट्रैफिक व मैप्स से जुड़ा डेटा लाइव साझा कर पाएंगी। इससे ऑटोमैटिकली ट्रैफिक लाइट्स का संचालन कर जाम लगने की स्थिति से बचा सकते हैं।

5जी के आने के बाद स्वास्थ्य संबंधी उपकरणों से सेंसर लगातार जुड़े रहेंगे जो आपके स्वास्थ्य के बारे में पल-पल की जानकारी देते रहेंगे। कुल मिलाकर स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं और भी बेहतर हो जाएंगी। उदाहरण के लिए, अगर आप एक डॉक्टर हैं तो दूर बैठे ही मरीज की जांच कर सकते हैं। बाहर किसी देश से आप भारत के किसी अस्पताल में पड़े मरीज का इलाज या ऑपरेशन भी कर पाएंगे। इसके अलावा 5जी नेटवर्क के द्वारा लोग ट्रू एचजी लाइव स्ट्रीमिंग कर पाएंगे। वहीं वर्चुअल रियलिटी जैसे डिवाइस इत्यादि का भी सफल उपयोग 5जी के द्वारा ही संभव हो सकेगा।

Related posts

UP: पुणे से गिरफ्तार हुआ आतंकवादियों को फंड उपलब्ध करने वाला मास्टरमाइंड…

Editor

हाथों में हाथ थामे शादी के लिए इटली रवाना हुए दीपिका और रणवीर

Editor

वॉट्सऐप ने अपने यूजर्स दिया ग्रुप वीडियो और वॉइस कॉलिंग का नया फीचर…

Atul kashyap