Crime India Meerut-Saharanpur Saharanpur News Top News Uttar Pradesh

छह साल से पुलिस को चकमा दे रहा था 15 हजार का ईनामी बदमाश, ऐसे आया पकड़ में

छह साल से पुलिस को चकमा दे रहा था 15 हजार का ईनामी बदमाश, ऐसे आया पकड़ में

सहारनपुर। थाना जनकपुरी पुलिस ने पिछले 6 वर्षों से वांछित चल रहे 15 हजारी इनामी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। उसके पास से तमंचा, कारतूस भी मिले हैं। आरोपी सन 2012 में हुई ट्रैक्टर ट्रॉली चोरी मामले में फरार चल रहा था, जबकि इस मामले में शामिल रहे उसके 5 साथी गिरफ्तार हो चुके हैं और ट्रैक्टर भी उत्तराखंड पुलिस ने बरामद किया था।
एसएसपी के पीआरओ सेल से दी गई जानकारी के मुताबिक सन 2012 में नवाबगंज निवासी अशरफ पुत्र असगर की ट्रैक्टर ट्रॉली गांव चकहरेटी से चोरी चली गई थी। थाना जनकपुरी में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। इसमें छह आरोपी प्रकाश में आए थे। इनमें से असलम, हुसैन फरमान इकबाल, भूरा गिरफ्तार किए जा चुके हैं जबकि प्रकाश में आया वसीम उर्फ काला पुत्र शकील निवासी सरकडी शेख थाना देहात कोतवाली अभी तक पकड़ा नहीं जा सका था और उस पर 15 हजार का इनाम भी घोषित चल रहा था। इंस्पेक्टर सुशील कुमार दुबे ने स्वाट टीम के साथ मिलकर जनता रोड तिराहे से वांछित 15 हजारी वसीम उर्फ काला को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से एक तमंचा और दो कारतूस भी बरामद हुए।। उसने ट्रैक्टर ट्रॉली चोरी में शामिल होना स्वीकार किया है। आरोपी पर शस्त्र अधिनियम की धारा में भी मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा गया है।
यहां यह भी बताते चलें कि थाना जनकपुरी क्षेत्र के गांव चकहरेटी से चोरी हुई ट्रैक्टर ट्रॉली को उत्तराखंड पुलिस ने बरामद किया था। यह बरामदगी रुडकी पुलिस ने की थी और आरोपी भी वहीं धरे गए थे। ट्रैक्टर ट्रॉली चोरी मामले में शामिल रहे वांछित ने 6 वर्षों तक थाना जनकपुरी पुलिस को छकाया। उसके साथी उत्तराखंड की रुड़की पुलिस ने दबोचे थे और ट्रैक्टर ट्रॉली भी वहीं की पुलिस ने बरामद की थी। जबकि 6 साल तक थाना जनकपुरी पुलिस इनामी वांछित की परछाई तक नहीं पा सकी थी। इस दौरान उस पर 15 हजार का इनाम भी घोषित किया जा चुका था।

Related posts

CM त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया पतंजलि आयुर्वेद महाविद्यालय के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन

Editor

नेल आर्ट डॉटिंग करे अपने घर पर ही…

Atul kashyap

जावड़ेकर बोले- PM की जान को खतरा बताने वाली चिट्ठी पर विपक्ष की राजनीति शर्मनाक

Editor